जब अटलजी ने कहा था- मैं अविवाहित हूं पर कुंआरा नहीं हूं…

राष्ट्रीय/अंतर्राष्ट्रीय

अटल बिहारी वाजपेयी के बारे में कहा जाता है कि वे ऐसे नेता थे जिन्होंने अपनी पब्लिक और प्राइवेट लाइफ को सफलतापूर्वक अलग-अलग रखा था. करीब 4 दशक तक वे लोगों के बीच एक बेहतरीन वक्ता और शानदार कवि के रूप जाते थे. लेकिन इससे अलग उनकी अपनी एक छोटी सी निजी दुनिया भी रही. कम लोगों को मालूम है कि वाजपेयी को पालतू कुत्ते और बिल्ली भी पसंद है.

वाजपेयी के शादी न करने को लेकर जब उनसे एक बार सवाल पूछा गया था कि आप अब तक कुंवारे क्यों हैं? इसके जवाब में उन्होंने पत्रकारों को कहा था कि मैं अविवाहित हूं लेकिन कुंवारा नहीं हूं.

कहां हुआ था जन्म

वाजपेयी का जन्म 25 दिसंबर 1924 को ग्वालियर के एक निम्न मध्यमवर्गीय परिवार में हुआ था. उनकी शुरुआती पढ़ाई-लिखाई ग्वालियर के विक्टोरिया कॉलेज और कानपुर के डीएवी कॉलेज में हुई थी.

वाजपेयी ने आगे राजनीतिक विज्ञान (एमए) की पढ़ाई की थी. इसके बाद उन्होंने पत्रकारिका में करियर शुरू किया. राष्ट्र धर्म, पांचजन्य और वीर अर्जुन का संपादन किया. 1951 में वाजपेयी भारतीय जन संघ के संस्थापक सदस्य बने थे.

1957 में उन्हें जन संघ की ओर से तीन लोकसभा सीटों लखनऊ, मथुरा और बलरामपुर और चुनाव मैदान में उतारा गया था. वे दो जगह हार गए और बलरामपुर से जीतकर लोकसभा पहुंचे. यहीं से उनके संसदीय करियर की शुरुआत हुई.