अब कोरोना वायरस का इलाज माँ के दूध से भी हो सकेगा, जानिए कैसे?

राष्ट्रीय/अंतर्राष्ट्रीय

अब कोरोना वायरस का इलाज माँ के दूध से भी हो सकेगा, जानिए कैसे?

ये तो सभी को पता है माँ का दूध अमृत सामान होता है। चीन में एक रिसर्च हुआ है जिसमे पता चला है कि माँ का दूध ज़्यादा तर कोरोना वायरस को ख़तम कर देता है। हालाँकि की कुछ दिन पहले पता चला है कि ब्रेस्टफीडिंग से कोरोना फ़ैल सकता है, यह जानकारी कुछ अधिकारियो ने दी थी. लेकिन विश्व स्वास्थ्य संगठन ने कहा था कि जो महिलाये कोरोना पॉजिटिव हो जाती है वो बच्चो को दूध पिला सकती है 

रिपोर्ट के मुताबिक, बीजिंग के रिसर्चर्स ने स्टडी के दौरान ह्यूमन सेल्स और जानवरों के सेल्स पर मां के दूध का परीक्षण किया. विभिन्न प्रकार के सेल्स पर परीक्षण के बाद पता चला कि मां के दूध की वजह से ज्यादातर वायरस मर जाते हैं.

मां का दूध वायरल अटैचमेंट को कर देता है ब्लॉक 

बीजिंग यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर टोन्ग यीगैंग ने कहा है कि मां का दूध वायरल अटैचमेंट को ब्लॉक कर देता है. रिसर्चर्स की टीम ने biorxiv.org पर शुक्रवार को यह स्टडी प्रकाशित कर दी है जिसका अब तक रिव्यू नहीं किया गया है.

इससे पहले जून में विश्व स्वास्थ्य संगठन ने विभिन्न देशों की 46 ऐसी महिलाओं पर स्टडी की थी जो अपने बच्चों को दूध पिला रही थीं. स्टडी के दौरान पता चला कि तीन मां के दूध में वायरल जीन मौजूद हैं, लेकिन इससे संक्रमण के सबूत नहीं मिले. सिर्फ एक बच्चा कोरोना से संक्रमित हुआ था, लेकिन इस बात को खारिज नहीं किया जा सका कि वह किसी बाहरी स्रोत से संक्रमित ना हुआ हो.

वहीं, चीनी मीडिया की रिपोर्ट के मुताबिक, फरवरी में वुहान में कोरोना पॉजिटिव होने वाली कई महिलाओं को बच्चों से दूर कर दिया गया था और नवजात को मां का दूध नहीं दिया गया. अमेरिका की प्रमुख स्वास्थ्य संस्था सीडीसी ने भी चेतावनी दी थी कि कोरोना पॉजिटिव मां अगर बच्चों को दूध पिलाती हैं तो उससे भी संक्रमण का खतरा हो सकता है.

जब मशहूर गायिका लता मंगेशकर को दिया गया था जहर, फिर….

ख़बरों की अपडेट्स पाने के लिए हमसे सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर भी जुड़ें: 

FacebookTwitterWhatsAppTelegramGoogle NewsInstagram