विधेयकों

कृषि विधेयकों को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने स्वीकार किया, अकाली दल के प्रमुख बादल ने इसे भारत के लिए ‘काला दिन’ कहा

राष्ट्रीय/अंतर्राष्ट्रीय

राष्ट्रपति ने कृषि बिलों को स्वीकार किया, बादल ने इसे भारत के लिए ‘काला दिन’ कहा

Best Sellers in Sports, Fitness & Outdoors

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने रविवार को संसद द्वारा पारित तीन विवादास्पद फार्म विधेयकों पर अपनी सहमति जताई ।

इस किसान विधेयकों का विरोध  विपक्ष तथा सत्ता में बैठी बीजेपी के गठबंधन वाली पार्टियों ने भी किया।

शिरोमणि अकाली दल इन विधेयकों के विरोध में NDA से अपना 22 साल पुराना रिश्ता तोड़ दिया है। शनिवार को उनके प्रेजिडेंट ने ये घोषणा  की थी अब अकाली दल NDA से बाहर हो रही है। 

यह कदम ऐसे समय में आया है जब किसान, विशेष रूप से पंजाब और हरियाणा के लोग, तीन बिलों का विरोध कर रहे हैं –

किसान उत्पादन व्यापार और वाणिज्य (संवर्धन और सुविधा) विधेयक 2020

मूल्य आश्वासन और कृषि सेवा विधेयक 2020

आवश्यक वस्तु (संशोधन) विधेयक 2020

इस वर्ष अयोध्या में राम लीला नहीं, वर्चुअल दीपोत्सव आयोजित किया जाएगा

असम में बाढ़ के चलते 9 जिलों में 2.25 लाख से अधिक लोग प्रभावित

शिरोमणि अकाली दल के प्रमुख सुखबीर सिंह बादल ने इसे “काला दिन” कहा, राष्ट्रपतिजी ने ये काम राष्ट्र की अंतरात्मा के अनुसार नहीं किया ।

“यह वास्तव में भारत के लिए एक काला दिन है कि राष्ट्रपति ने राष्ट्र के विवेक के रूप में कार्य करने से इनकार कर दिया है। हमें बहुत उम्मीद थी कि वह इन बिलों को संसद में पुनर्विचार के लिए लौटा देंगे जैसा कि एसएडी और कुछ अन्य विपक्षी दलों द्वारा मांग की गई थी, ”बादल ने रूपनगर में पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए।

अमित शाह ने पर्यटन, संस्कृति और व्यवसाय को बढ़ावा देने के लिए डेस्टिनेशन नॉर्थ ईस्ट -2020 लॉन्च किया

राष्ट्रपति Ram Nath Kovind ने सभी 3 फार्म बिलों पर दी सहमति

बॉलीवुड एक्ट्रेस रेखा ने इन फिल्मो में कर दी थी बोल्डनेस की हदे पार, अपने से बड़े ओम पूरी के साथ…

ख़बरों की अपडेट्स पाने के लिए हमसे सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर भी जुड़ें:

FacebookTwitterWhatsAppTelegramGoogle NewsInstagram