चीन के विरोध में डिलीवरी ब्वॉयज ने छोड़ी जोमैटो की नौकरी,कंपनी में चीनी निवेश का विरोध कर रहे हैं कर्मचारी 

चीन के विरोध में डिलीवरी ब्वॉयज ने छोड़ी जोमैटो की नौकरी,कंपनी में चीनी निवेश का विरोध कर रहे हैं कर्मचारी 

राष्ट्रीय/अंतर्राष्ट्रीय

चीन के विरोध में डिलीवरी ब्वॉयज ने छोड़ी जोमैटो की नौकरी,कंपनी में चीनी निवेश का विरोध कर रहे हैं कर्मचारी 

कोलकाता: जोमैटो के बहिष्कार करने की अपील करते हुए लगभग एक दर्जन जोमैटो स्टाफ ने कंपनी की टी शर्ट जला दी. जोमैटो में काम कर रहे ये लड़के दक्षिण कोलकाता में बेहला पुलिस स्टेशन के सामने जमा हुए और जोमैटो की टी शर्ट जलाई. हाथों में तिरंगा लिए हुए जोमैटो के ये स्टाफ ‘चाइनीज एजेंट जोमैटो भारत छोड़ो’ के नारे लगा रहे थे.

LOC के नजदीक ‘भारतीय जासूसी ड्रोन’ को मार गिराय- पाकिस्तानी सेना का दावा

लद्दाख में चीन के विश्वासघात के बाद चीनी सामान और चीनी निवेश का विरोध भारत में बढ़ता ही जा रहा है. इस बीच कोलकाता में एप आधारित फूड डिलीवरी कंपनी जोमैटो में काम कर रहे डिलीवरी ब्वॉयज के एक ग्रुप ने इस कंपनी से सामूहिक इस्तीफा देने का फैसला किया है. जोमैटो में चीन की एक कंपनी का भारी मात्रा में पूंजी निवेश है. कंपनी में काम कर रहे डिलीवरी ब्वॉयज जोमैटो में चीनी निवेश का विरोध कर रहे हैं.

जोमैटो फूड डिलीवरी स्टार्टअप कंपनी है. इसका मुख्यालय हरियाणा के गुरुग्राम में है. साल 2008 में इस कंपनी की स्थापना पंकज चढ्ढ़ा और दीपेंदर गोयल नाम के दो कारोबारियों ने की थी.

दो बेहद ख़ास Foldable Smartphone लांच कर सकती है Samsung

रिपोर्ट के मुताबिक एंट फाइनेंशियल, जो कि चीन की ई-कॉमर्स कंपनी अलीबाबा की सब्सिडयरी कंपनी है, ने साल 2018 में जोमैटो में 14.7 प्रतिशत की हिस्सेदारी खरीदी है. इसके लिए कंपनी ने जोमैटो में 210 मिलियन डॉलर का निवेश किया है.

जब जोमैटो के इन स्टाफ से पूछा गया कि कंपनी छोड़ने के बाद इनकी रोजी-रोटी कैसे चलेगी तो उन्होंने कहा कि वे भूखे रहने को तैयार हैं, लेकिन देश पर बुरी नजर डालने वालों के साथ कतई काम नहीं करेंगे

ख़बरों की अपडेट्स पाने के लिए हमसे सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर भी जुड़ें:  

FacebookTwitterWhatsAppTelegramGoogle NewsInstagram