PMVVY Pension Scheme

केंद्र सरकार की इस योजना से आपको हर माह मिलेंगे 10 हजार रूपए, जानिये नियम-शर्तें और जल्‍द लें लाभ

राष्ट्रीय/अंतर्राष्ट्रीय

60 वर्ष से अधिक आयु के लोगों को सामाजिक व आर्थिक सुरक्षा प्रदान करने वाली केंद्रीय पेंशन योजना Pradhan Mantri Vaya Vandana Yojana pension scheme (PMVVY) यानी प्रधानमंत्री वय वंदना योजना की समयावधि 3 वर्षों के लिए बढ़ा दी गई है। इसके पहले ये योजना 31 मार्च, 2020 को समाप्‍त होने जा रही थी लेकिन हाल ही में केंद्रीय कैबिनेट समिति ने इसे 2023 तक के लिए बढ़ा दिया है। इसमें आवेदक को 10 हजार रुपए तक की पेंशन मिलती है। इस योजना का संचालन एवं क्रियान्‍वयन मुख्‍य रूप से भारतीय जीवन बीमा निगम LIC द्वारा किया जाता है। आइये इस योजना के बारे में विस्‍तार से जानिये सब कुछ और इसका लाभ लें।

सरकार ने किया है यह मुख्‍य संशोधन

योजना की अवधि बढ़ाने के साथ ही सरकार ने इसमें एक मुख्‍य बदलाव किया है। योजना के तहत हर महीने एक हजार रुपए की न्‍यूनतम पेंशन (वार्षिक) के लिए जो राशि प्रदान की जाती है, उसमें 1 लाख 62 हजार 162 रुपए तक के न्‍यूनतम निवेश के नियम में संशोधन किया गया है। यह असल में केंद्र सरकार की योजना है जिसे एलआईसी संचालित कर रहा है। यदि आपने इसका लाभ नहीं लिया है तो जल्‍द इसकी जानकारी लें और एप्‍लाय करें।

अगले 24 घंटे में इन राज्‍यों में भारी बारिश के आसार, यहां बढ़ेगी गर्मी, जानें अपने शहर का हाल

क्या है पीएमवीवीवाई PMVVY

प्रधानमंत्री वय वंदन योजना का क्रियान्वयन भारतीय जीवन बीमा निगम के माध्यम से किया जा रहा है। इसका मकसद साठ साल से अधिक उम्र के लोगों को सामाजिक सुरक्षा प्रदान करना है। इस योजना को लेने वाले सदस्यों को दस साल तक आठ प्रतिशत सुनिश्चित रिटर्न के रूप में वरिष्ठ नागरिकों को पेंशन मिलती है। वरिष्ठ नागरिक मासिक, तिमाही, छमाही या वार्षिक आधार पर पेंशन ले सकते हैं। अगर एलआइसी इस योजना के फंड पर आठ प्रतिशत रिटर्न जेनरेट नहीं कर पाती है तो सरकार उसकी भरपाई करने के लिए सब्सिडी देती है।

ये लोग आते हैं योजना के दायरे में

यदि आपके घर में कोई Senior Citizen वरिष्‍ठ नागरिक है या आप स्‍वयं इसी दायरे में आते हैं जिसे Pension पेंशन मिलती है तो यह आपके लिए है। इस योजना में एक निश्‍चित दर के मान से पक्‍की गारंटीड Pension पेंशन प्राप्‍त होती है। इसके आवेदक व अभ्‍यर्थी एलआईसी LIC भारतीय जीवन बीमा निगम को एकमुश्‍त पूरी राशि का भुगतान करके हर महीने एक तय राशि भी प्राप्‍त कर सकते हैं।

जानिये इस Pension Scheme की पात्रता

Pradhan Mantri Vaya Vandana Yojana प्रधानमंत्री वय वंदना योजना यानी PMVVY में राशि निवेश करने के लिए कोई आयु सीमा निर्धारित नहीं है। इसमें कोई भी ग्राहक अधिकतम 15 लाख रुपए तक का निवेश कर सकते हैं।

31 मई तक बैंक अकाउंट में रखें 342 रुपये, 4 लाख की मिलेगी सुरक्षा

ऐसे करें आवेदन, यहां दी गई इस लिंक पर करें Click

इस योजना में आवेदन करके लिए आपको एलआईसी (भारतीय जीवन बीमा निगम) LIC की आधिकारिक वेबसाइट पर विजिट करना होगा। आप सबसे पहले https://eterm.licindia.in/onlinePlansIndex/pmvvymain.do पर जाएं। इसके बाद आपको योजना का एक फार्म लेना होगा। उसे डाउनलोड करके उसका प्रिंट आउट निकालकर रख लें। इस पर अपने सारे आवश्‍यक कागजात लगाएं। LIC के किसी भी कार्यालय में जमा करवा दें। योजना में ऑनलाइन निवेश की भी सुविधा है।

निवेश के लिए इन कागजातों की जरूरत

1.एड्रेस प्रूफ की प्रति Address Proof

2.पैन कार्ड की कॉपी PAN card

3. एक चेक cheque की प्रति अथवा बैंक पासबुक Bank Passbook के पहले पेज की एक कॉपी

यह है Pension Mode पेंशन मोड – न्यूनतम जमा रकम – अधिकतम जमा रकम

सालाना – 1,44,578 – 14,45,784

6 माही – 1,47,601 – 14,76,014

3 माही – 1,49,068 – 14,90,684

मासिक – 1,50,000 – 15,00,000

मुंबई से हजारों श्रमिकों को लेकर उत्तरप्रदेश के लिए निकली ट्रेन, 8 राज्यों को पार कर इस जगह पहुँच गई

Pension पेंशन के तौर पर इतना पैसा मिलता है

Pradhan Mantri Vaya Vandana Yojana प्रधानमंत्री वय वंदना योजना के तहत 1 हजार रुपए से लेकर 10 हजार रुपए तक की राशि बतौर पेंशन प्रदान दी जाती है। यदि आवेदक या अभ्‍यर्थी हर महीने 1 हजार रुपए की Pension पेंशन पाना चाहते हैं तो इसके लिए उन्‍हें पहले डेढ़ लाख रुपए जमा करना होंगे। इसके अलावा यदि वे 10 हजार रुपए प्रतिमाह की पेंशन राशि पाना चाहते हैं तो इसके लिए उन्‍हें 15 लाख रुपए जमा कराना होंगे।

इतनी अवधि से प्राप्‍त होने लगती है Pension पेंशन

इस योजना की Pension पेंशन राशि की पहली किश्‍त राशि जमा कराने के एक वर्ष, 6 महीने, 3 महीने या 1 महीने के बाद मिलने लगती है। इसमें केवल यही बात मायने रखती है कि आप किस अवधि का चयन कर रहे हैं।

पेंशन की राशि को प्राप्‍त करने के ये हैं विकल्‍प

इसके लिए आवेदक या अभ्‍यर्थी मासिक, छह मासिक, त्रैमासिक अथवा वार्षिक आधार पर पेंशन प्राप्‍त कर सकता है।

वैज्ञानिको ने किया हैरान कर देने वाला खुलासा, आप 10 मिनट में बन सकते हैं…

योजना पूरी होने पर यह फायदे

स्‍कीम मैच्‍योर होने पर दस वर्ष के पॉलिसी टर्म तक पेंशनर यदि जीवित रहता है तो उस जमा राशि के साथ ही व्‍यक्ति को पेंशन की राशि का भी भुगतान किया जाता है।

मृत्‍यु होने पर यह है नियम

यदि व्‍यक्ति की मृत्‍यु पॉलिसी टर्म के दस साल के भीतर ही हो जाती है तो उसके परिजनों को जमा Pension राशि पूरी तरह वापस लौटा दी जाती है।

आत्‍महत्‍या करने पर नियम

यदि किसी कारण से Pension पेंशन राशि पाने वाला व्‍यक्ति खुदकुशी कर लेता है तो ऐसी स्थिति में भी उसके परिवार या नामित व्‍यक्ति को जमा राशि पूरी लौटा दी जाएगी क्‍योंकि आकस्मिक मृत्‍यु को भी इसमें कवर किया गया है।

योजना की ये हैं अनिवार्य शर्तें

1. आवेदक कम-से-कम 60 साल की आयु पूरी कर चुका हो।

2. 60 वर्ष की आयु पूर्ण करने के बाद इसकी अधिकतम सीमा नहीं है।

3. पॉलिसी टर्म यानी योजना की अवधि 10 साल है।

4. कम से कम Pension पेंशन- 1 हजार रुपए प्रतिमाह दी जाएगी।

3,000 रुपये प्रति तीन माह

6,000 रुपये प्रति छह माह

12,000 रुपये सालाना

5. अधिकतम Pension पेंशन राशि प्रतिमाह 10 हजार रुपए दी जाती है।

30,000 रुपये प्रति तीन माह

60,000 रुपये प्रति छह माह

1 लाख 20 हजार रुपये सालाना

सरकार महिलाओ को दे रही 4000 रूपए महीना, कमीशन भी अलग, पढ़िए

चाहें तो बीच में छोड़ सकते हैं

इस योजना को परिपक्‍व होने से पहले भी छोड़ने का ऑप्‍शन है। यदि पेंशनर को किसी रोग का इलाज करवाने में पैसों की आवश्‍यक्‍ता है तो कुल जमा राशि में से 98 प्रतिशत राशि का भुगतान कर दिया जाता है।

GST से है मुक्‍त

इस योजना में GST जीएसटी नहीं देना होता है। हालांकि नियम यह है कि केंद्र सरकार की ओर से भविष्‍य में कर प्रणाली लागू की जा सकती है। यदि किसी प्रकार का टैक्‍स देना होता है तो उसे योजना के अंतर्गत मिलने वाले लाभ में शामिल नहीं किया जा सकेगा।

पॉलिसी लौटाने के लिए होता है 15 से 30 दिन तक का वक्‍त

यदि आप यह पॉलिसी ले चुके हैं और उसके बाद इसे वापस करना चाहते हैं तो एलआईसी LIC के कार्यालय में जाकर संपर्क करें। वहां आपको पॉलिसी लेने पर रिसीट प्राप्‍त होने के 15 दिनों में एवं ऑनलाइन पॉलिसी लेने पर रिसीट मिलने के 1 महीने के भीतर वजह बताना होगी और आप पॉलिसी वापस कर सकते हैं। यदि इस दौरान पेंशन राशि मिल जाती है तो राशि एवं स्‍टाम्‍प ड्यूटी की राशि काटने के बाद सारी जमा राशि वापस लौटा दी जाएगी।

75 फीसदी लोन मिलेगा लेकिन यह शर्त होगी

इस योजना में राशि जमा कराने के 3 वर्ष बाद लोन तो मिल जाता है लेकिन इसके लिए कुछ शर्तें हैं। आप जो भी राशि जमा कराते हैं, उसका 75 फीसदी तक लोन ले सकते हैं। इस लोन की राशि पर लगने वाले ब्‍याज की अवधि त्रैमासिक होती है। जब तक आप पूरे लोन को नहीं चुका देते, तब तक आपको प्रति 6 माह की अवधि पर ब्‍याज चुकाना होगा। असल में, ब्‍याज की राशि आपको दी जा रही पेंशन से ही काटी जाती है।

हर साल करीब 8 से 8.30 फीसद तक का रिटर्न

Pradhan Mantri Vaya Vandana Yojana के सदस्‍यों को 8 से 8.30 फीसद तक का वार्षिक रिटर्न मिलता है। यह रिटर्न इस स्थिति पर निर्धारित होता है कि आवेदक अपनी पेंशन के भुगतान का क्‍या आधार चाहते हैं, वे इसे मासिक चाहते हैं या छह माही या वार्षिक।

घायल पिता को बैठा कर 1,200 किमी साइकिल चलाने वाली बिहार की लड़की की अमेरिकी राष्ट्रपति की बेटी IVANKA TRUMP ने की तारीफ …

हर परिवार को 10 हजार रुपए तक की ही राशि

इस योजना को एलआईसी LIC ही संचालित करती है। LIC की वेबसाइट के अनुसार, पेंशन की अधिकतम लिमिट किसी एक Pensioner पेंशनर पर लागू ना होकर उसके पूरे परिवार पर ही लागू होती है। इसका अर्थ यह हुआ कि PMVVY प्रधानमंत्री वय वंदना योजना Pradhan mantri vay Vandana Yojana के अंतर्गत किसी एक परिवार से जितने भी आवेदक Pension पेंशन का प्‍लान लेंगे, उन सभी को जो Pension पेंशन राशि दी जाएगी, उसका योग 10 हजार रुपए से अधिक नहीं होगा। इसके अलावा, Pensioner पेंशनर के परिवार में उसके अतिरिक्‍त उसका पति या पत्‍नी व उसके आश्रितों की संख्‍या भी शामिल है।

वापस लेना हो जमा राशि तो यह करें

इस योजना में निवेश करने ठीक 10 साल बाद पेंशन का अंतिम भुगतान किया जाता है। इसके साथ ही संपूर्ण जमा राशि का अभ्‍यर्थी को भुगतान कर दिया जाता है। इसके साथ ही यह भी नियम है कि यदि 10 साल की अवधि पूरी होने के पहले पेंशन पाने वाले व्‍यक्ति की मौत हो जाती है तो उसके द्वारा नामित व्‍यक्ति के खाते में यह सारा पैसा वापस Refund कर दिया जाता है।

खुशखबरी : 55 करोड़ लोगो का 5 लाख तक होगा मुफ्त इलाज़, पढ़िए

लोन लेना हो तो यह होगी इसकी पात्रता

जब कोई भी व्‍यक्ति इस योजना में निवेश को 3 साल पूरे कर चुका होता है तो उसे लोन की भी पात्रता मिल जाती है। यदि वह लोन लेना चाहे तो इसकी अधिक राशि कुल खरीदी की कीमत की 75 प्रतिशत तक हो सकती है। लोन पर लगने वाले ब्‍याज की दर टर्म आधारित होती है। इस लोन का ब्‍याज संबंधित पेंशन राशि में से ही काटा जाता है और बकाया लोन की वसूली योजना से किए गए आहरण के समय की जाती है।

ख़बरों की अपडेट्स पाने के लिए हमसे सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर भी जुड़ें:  

FacebookTwitterWhatsAppTelegramGoogle NewsInstagram

Facebook Comments