बारिश के कहर ने लीं 17 और जानें, मौत का आंकड़ा पहुंचा 165 पर

उत्तर प्रदेश राष्ट्रीय/अंतर्राष्ट्रीय

लखनऊ: उत्तर प्रदेश में बीते 24 घंटों के दौरान बारिश से जुड़े हादसों में 17 और लोगों की मौत हो गई, जबकि 11 अन्य जख्मी हो गए हैं. एक जुलाई से अब तक मरने वालों की संख्या बढ़कर 165 हो गयी है. खबरों के मुताबिक कानपुर में तीन, उन्नाव, गोण्डा और बांदा में दो-दो, कानपुर देहात, बाराबंकी, फिरोजाबाद, अंबेडकरनगर, शाहजहांपुर, बलिया, कन्नौज तथा पीलीभीत में एक-एक व्यक्ति की जान गई है. इस प्रकार वर्षाजनित हादसों के कारण बीती एक जुलाई से अब तक 165 लोग जान गंवा चुके हैं, जबकि 134 अन्य घायल हुए हैं. अधिकारियों ने बताया कि वर्षाजनित हादसों में दीवार गिरने, पेड़ गिरने या आकाशीय बिजली गिरने और जमीन धंसने के कारण अधिकांश मौतें हुई हैं.

इस हफ्ते भी जारी रहेगी बारिश
मौसम विभाग का कहना है कि दक्षिण पश्चिम मानसून पूर्वी उत्तर प्रदेश में सक्रिय है जबकि पश्चिम उत्तर प्रदेश में यह सामान्य है, इसलिए पूर्वी उत्तर प्रदेश की अधिकांश जगहों पर अभी भी बारिश की संभावना है जबकि पश्चिमी उत्तर प्रदेश में कहीं कहीं पानी बरस सकता है. वहीं, उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ और राज्य के अधिकांश जिलों में पिछले कई दिनों से हो रही तेज बारिश से रेल एवं सड़क यातायात प्रभावित हुआ है. मौसम विभाग के मुताबिक, अगले 24 घंटों के दौरान तेज बारिश होने की उम्मीद है. बारिश होने से कई शहरों में जलभराव की समस्या से जनजीवन पूरी तरह से अस्त-व्यस्त हो गया है.

उप्र मौसम विभाग के निदेशक जे पी गुप्ता के मुताबिक, दिन में रुक-रुककर बारिश का दौर जारी रहेगा. इस सप्ताह के अंत तक मौसम के रुख में खास बदलाव आने की उम्मीद नहीं है. बारिश की वजह से तापमान में भी गिरावट दर्ज की गई है. राज्य के अधिकांश जिलों में भारी बारिश की चेतावनी जारी की गई है.