नई स्कीम ने मचाया हड़कंप, सबसे कम 899 रूपए EMI में खरीदे ये चीज़, पढ़िए ...

LOCKDOWN: लोन की EMI भरने वालो के लिए सबसे बड़ी खुशखबरी, तुरंत पढ़िए

टेक एंड गैजेट्स राष्ट्रीय/अंतर्राष्ट्रीय

LOCKDOWN: लोन की EMI भरने वालो के लिए सबसे बड़ी खुशखबरी, तुरंत पढ़िए

नई दिल्‍ली। LOCKDOWN के बीच आर्थिक स्थिती खराब होने के चलते जो लोग ईएमआई नहीं भर पा रहे हैं। उन्हें एक बार फिर से तीन माह तक का (Moratorium) मोरेटोरियम मिल सकता है। इसकी वजह रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) द्वारा इस पर विचार करना है। अगर ऐसा हुआ तो कर्जदारों को लोन की EMI का भुगतान 31 अगस्त तक नहीं भरना पडेगा। वह अपनी (EMI) इसके बाद दे सकते हैं। हालांकि इस तीन माह में (Bank Emi) बैंक ईएमआई पर ब्याज वसूल सकता है।
इसकी वजह RBI की 27 मार्च की अधिसूचना के अनुसार, कर्जदार अभी मार्च, अप्रैल और मई की (EMI) चुकाने के बोझ से स्वेच्छा से मुक्त हैं। हालांकि उन्हें यह EMI ब्याज समेत चुकानी पडेगी। दरअसल, केंद्र सरकार ने कोरोना के चलते देश में लॉकडाउन (Lockdown) का ऐलान किया था। इसी के बाद रिजर्व बैंक ने लोन लेकर ईएमआई कर्जदाताओं को राहत देने के लिए देश के सभी सरकारी और प्राइवेट बैंकों को लोन की EMI को आगे बढ़ाने के आदेश दिये थे। यह सुविधा मोरेटोरियम के तहत दी जाती है। इसी के बाद बैंको ने EMI 3 महीने के लिए आगे बढ़ाने की सुविधा शुरू की थी।
अब लॉकडाउन के फिर से बढने पर रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया सरकार के आदेश पर फिर से लोगों को राहत देने के लिए मोरेटोरियम करा सकती है। जिसे लोगों को सहुलियत मिल सकें। हालांकि उस समय भी कुछ बडे सरकारी बैंकों ने लॉकडाउन वन में मोरेटोरियम के साथ ही किस्तों पर ब्याज न लेने की ऐलान कर दिया था, लेकिन कई प्राइवेट बैंक लोन मोरेटोरियम की सुविधा तो दे रही है। परन्तु उस पर ब्याज वसूल रही है। वहीं इस छूट के बाद ब्याज वसूली का मामला अभी सुप्रीम कोर्ट में लंबित है। याचिकाकर्ता ने कोर्ट से अपील कि है कि बैंकों को ब्याज वसूलने से रोका जाये।
ख़बरों की अपडेट्स पाने के लिए हमसे सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर भी जुड़ें:  FacebookTwitterWhatsAppTelegramGoogle NewsInstagram
Facebook Comments