3 माह गैस रिफिल फ्री, सरकार ने किया बड़ा ऐलान, ऐसे ले सकेंगे योजना का लाभ…

राष्ट्रीय/अंतर्राष्ट्रीय

3 माह गैस रिफिल फ्री, सरकार ने किया बड़ा ऐलान, ऐसे ले सकेंगे योजना का लाभ…

नई दिल्ली। देश में वैश्विक महामारी कोरोनावायरस (COVID-19) के चलते केंद्र सरकार ने प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के तहत प्रधानमंत्री उज्जवला योजना (Pradhanmantri Ujjwala Yojna) के लाभार्थियों के लिए तीन महीने फ्री गैस रिफिल का एलान किया है। अप्रैल से जून, 2020 तक के लिए यह घोषणा की गई है।

आधिकारिक बयान के मुताबिक, अब तक तेल कंपनियों ने इस मद में उज्जवला योजना के करीब 7.15 करोड़ लाभार्थियों के खाते में 5,606 करोड़ रुपये हस्तांतरित किए हैं। इसमें बताया गया है, ‘यह योजना प्रधानमन्त्री उज्जवला योजना के अंतर्गत है, जो पहली अप्रैल से 30 जून तक के लिए प्रभावी है। इसके तहत कंपनियां उज्जवला के लाभार्थियों के खाते में उसके पैकेज के हिसाब से पांच किलो या 14.2 किलो के सिलेंडर की कीमत के बराबर का एडवांस जमा करा रही हैं। ग्राहक इस पैसे से सिलेंडर रिफिल करा सकेंगे।’

LOCKDOWN: MODI सरकार ने इन्हे दी राहत, 15 तरह के उद्योग भी खुल सकेंगे

दो दिन के अंदर डिलीवरी

IOCL, BPCL और HPCL जैसी कंपनियां पहले ही डिलीवरी बॉय समेत सप्लाई चेन के विभिन्न चरणों में कार्यरत अपने कर्मचारियों के लिए पांच लाख रुपये की अनुग्रह राशि का एलान किया है। किसी भी कर्मचारी की कोरोना संक्रमण के कारण मौत की स्थिति में यह राशि उनके परिजनों को मिलेगी।

3 months gas refill free, Modi government announces big, will be able to take advantage of this scheme ...
LPG Cylinder, Photo credit: Google

इन कंपनियों का कहना है कि इस मुश्किल की घड़ी में Delivery Boy समेत तमाम योद्धा अपने कार्य में लगे हैं। कंपनियां सुनिश्चित कर रही हैं कि डिलीवरी के लिए किसी को दो दिन से ज्यादा इंतजार नहीं करना पड़े। लॉकडाउन के बाद से देश में रोजाना करीब 60 लाख सिलेंडर रिफिल किए जा रहे हैं।

पेट्रो उत्पादों की मांग में भारी कमी से चिंता

वहीं, दूसरी ओर सरकारी तेल कंपनियां केंद्र सरकार के निर्देश पर देश भर में उज्ज्वला योजना को आगे बढ़ाने में जोर-शोर से लग गई हैं। लेकिन लॉकडाउन की वजह से जिस तरह से पेट्रोल व डीजल की मांग घट रही है उससे चिंता बढ़ती जा रही है। लॉकडाउन के चलते वाहनों के रोड से हटने और औद्योगिक गतिविधियों के ठप होने से हर तरह की ऊर्जा की मांग कम हो गई है।

Facebook Comments