Coronavirus की डर से पाक ने भारत के आगे फैलाए हाथ, शोएब अख्तर बोले- मदद करोगे तो हमेशा याद रखेंगे

Coronavirus की डर से पाक ने भारत के आगे फैलाए हाथ, शोएब अख्तर बोले- मदद करोगे तो हमेशा याद रखेंगे

खेल राष्ट्रीय/अंतर्राष्ट्रीय

Coronavirus की डर से पाक ने भारत के आगे फैलाए हाथ, शोएब अख्तर बोले- मदद करोगे तो हमेशा याद रखेंगे

नई दिल्ली। पूर्व पाकिस्तानी क्रिकेटर शोएब अख्तर (Shoaib Akhtar) ने भारत और पाकिस्तान से मिलकर Coronavirus महामारी का सामना करने का अनुरोध किया है। शोएब अख्तर (Shoaib Akhtar) ने कहा कि संकट की इस घड़ी में दोनों देशों को एक-दूसरे का साथ देना चाहिए। उन्होंने कहा कि यदि ऐसे समय में भारत हमें 10000 वेंटिलेटर प्रदान करता है तो पाकिस्तान इसे हमेशा याद रखेगा।

रावलपिंडी एक्सप्रेस के नाम से पहचाने जाने वाले शोएब अख्तर (Shoaib Akhtar) ने Coronavirus से प्रभावितों की मदद के लिए धन जुटाने हेतु एक प्रस्ताव रखा है। उन्होंने कहा कि भारत और पाकिस्तान के बीच तीन वनडे मैचों की सीरीज कराई जानी चाहिए जिससे काफी पैसा एकत्रित हो सकता है जो इस महामारी के समय में पीड़ितों के काम आएगा। दोनों देशों के तनावपूर्ण संबंधों के चलते कई सालों से इनके बीच कोई द्विपक्षीय क्रिकेट सीरीज नहीं खेली गई हैं। ये दोनों टीमें एशिया कप के अलावा आईसीसी के टूर्नामेंट्स में ही एक-दूसरे के खिलाफ खेलती रही हैं।

Railway Counter से बुकिंग बंद, लेकिन IRCTC रोजाना Online बेंच रहा लाखों Ticket

शोएब अख्तर ने कहा, यदि भारत हमें 10000 वेंटिलेटर प्रदान करता है तो पाकिस्तान इस बात को हमेशा याद रखेगा। हम भारत के साथ क्रिकेट सीरीज का प्रस्ताव रख सकते हैं लेकिन इस पर फैसला तो अधिकारियों को लेना होगा। वैसे संकट के इस समय में यदि यह सीरीज होती है तो मैचों के परिणाम पर कोई भी देश निराश नहीं होगा। यदि विराट कोहली ने शतक लगाया तो हम खुश होंगे और इसी तरह यदि बाबर आजम ने सेंचुरी बनाई तो आप खुश होंगे। मैचों का परिणाम कुछ भी निकले दोनों टीमें विजेता होंगी।

44 साल के शोएब अख्तर ने कहा, इन मैचों को बड़ी संख्या में दर्शक देखेंगे। पहली बार दोनों देश एक-दूसरे के लिए खेलेंगे। इस सीरीज से जो भी पैसा मिलेगा वह दोनों देशों के बीच बाट दिया जाएगा। इस संकट की घड़ी में इस सीरीज से मोटी रकम हासिल की जा सकेगी क्योंकि इसके लिए पूरी दुनिया का समर्थन मिलेगा।

शोएब अख्तर ने कहा कि पूर्व पाकिस्तानी क्रिकेटर शाहिद अफरीदी की चैरिटी की मदद का अनुरोध करने वाले युवराज सिंह और हरभजन सिंह की आलोचना करना अमानवीय है। इस समय बात देश या धर्म की नहीं बल्कि इंसानियत की है।

Facebook Comments