Advertisement to sell 'Statue of Unity' was put on OLX, FIR registered

OLX पर डाल दिया था ‘Statue of Unity’ को बेंचने का विज्ञापन, एफआईआर दर्ज

राष्ट्रीय/अंतर्राष्ट्रीय
  • OLX पर डाला गया था ‘Statue of Unity’ को बेंचने का विज्ञापन

  • गुजरात में पुलिस ने एफआईआर दर्ज किया

देश में कोरोना वायरस का संकट लगातार बढ़ता जा रहा है. वहीं देश में कोरोना के खतरे से निपटने के लिए 21 दिनों का लॉकडाउन लागू है. इस बीच गुजरात में स्टैच्यू ऑफ यूनिटी (Statue of Unity) को बेचने से जुड़े एक ऑनलाइन Olx पर विज्ञापन का मामला सामने आया है.

देश जहां कोरोना वायरस महामारी का सामना कर रहा है तो ऑनलाइन वेबसाइट ओएलएक्स पर दुनिया की सबसे ऊंची प्रतिमा स्टैच्यू ऑफ यूनिटी (Statue of Unity) को बेचने का विज्ञापन निकला है. स्टैच्यू ऑफ यूनिटी (Statue of Unity) को बेचने का विज्ञापन Olx में निकलने से सरकारी महकमे में भी हड़कंप मचा हुआ है.

30 हजार करोड़ रुपये रखी कीमत

दरअसल, ओएलएक्स पर एक विज्ञापन पोस्ट किया गया, जिसमें स्टैच्यू ऑफ यूनिटी (Statue of Unity) की बिक्री की बात कही गई. इस विज्ञापन में स्टैच्यू ऑफ यूनिटी (Statue of Unity) को 30 हजार करोड़ रुपये में बेचने के लिए रखा गया. साथ ही लिखा कि गुजरात सरकार को कोरोना वायरस के हालत से लड़ने के लिए अस्पताल और मेडिकल उपकरणों के लिए पैसों की जरूरत है.

वहीं मामले के सामने आने के बाद स्टैच्यू ऑफ यूनिटी (Statue of Unity) प्रशासन भी हरकत में आ गया और इस मामले को लेकर केवड़िया कॉलोनी पुलिस थाने में शिकायत दर्ज करवाई. प्रशासन ने अज्ञात शख्स और ओएलएक्स कंपनी के खिलाफ मामला दर्ज करवाया है.

Bhopal में Corona से पहली मौत, 23 नए मरीज भी मिले; MP में 177 Active Case

पीएम मोदी ने किया था उद्घाटन

मामले को लेकर डिप्टी कलेक्टर नीलेश दुबे का कहना है कि ओएलएक्स कंपनी में बातकर इस विज्ञापन को हटवा दिया है. हालांकि इस बात की जांच की जा रही है कि इस तरह का विज्ञापन किसने वेबसाइट पर दिया था. बता दें कि स्टैच्यू ऑफ यूनिटी (Statue of Unity) सरदार पटेल का स्मारक है. इस प्रतिमा की ऊंचाई 182 मीटर है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने साल 2018 में इसका उद्घाटन किया था.

Facebook Comments