First death from Corona in Bhopal, 23 new patients also found; 177 Active Case in MP

Bhopal में Corona से पहली मौत, 23 नए मरीज भी मिले; MP में 177 Active Case

इंदौर ग्वालियर भोपाल मध्यप्रदेश राष्ट्रीय/अंतर्राष्ट्रीय
  • Bhopal में Corona से रविवार को पहली मौत हुई है

  • स्वास्थ्य विभाग के 9 अफसर, 1 कर्मचारी, 12 जमाती शामिल

  • MP में अब तक 193 Confirmed Case, 177 Active Case, 3 लोग Recovered और 13 लोगों की मौत हो चुकी है

भोपाल (Bhopal)/इंदौर (Indore)/ ग्वालियर (Gwalior). शहर में सोमवार को Corona से पहली मौत हुई। तीन दिन पहले नर्मदा हॉस्पिटल में भर्ती 52 साल के नरेश खटीक की रविवार रात 12.30 बजे मौत हो गई। रविवार को ही उसकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। उधर, रविवार को ही भोपाल (Bhopal) में काेरोना के 23 नए मरीज मिले हैं। प्रदेश में पहली बार किसी शहर से एक ही दिन में इतने नए रोगी सामने आए हैं। इन्हें मिलाकर भोपाल (Bhopal) में कोराेना के 41 मरीज हो चुके हैं। इनमें 20 जमाती और 12 स्वास्थ्य कर्मचारी हैं। स्थिति को देखते हुए प्रशासन ने सोमवार से पूरा शहर लॉक डाउन करने का निर्णय लिया है। मेडिकल स्टोर्स, गैस एजेंसी, दूध पॉर्लर और करीब आधे पेट्रोल पम्प के अलावा सब कुछ बंद रहेगा। MP में अब तक 193 Confirmed Case, 177 Active Case, 3 लोग Recovered और 13 लोगों की मौत हो चुकी है

आधे शहर के 23 एरिया कंटेनमेंट

आधे शहर के 23 एरिया कंटेनमेंट किए गए हैं। इन इलाकों में कोई भी बाहरी घूमता पाया गया तो उसे सीधे गिरफ्तार किया जाएगा। रविवार को भोपाल (Bhopal) में पॉजिटिव पाए गए 23 लोगों में 9 स्वास्थ्य विभाग अफसर और 1 कर्मचारी, 12 जमाती और एक सब्जी व्यापारी का बेटा शामिल है। जमातियों में एक 15 साल का बच्चा अब्दुल्लाह भी शामिल है। कलेक्टर तरुण पिथोड़े ने बताया कि बढ़ते संक्रमण को देखते हुए टोटल लॉकडाउन करने के आदेश जारी कर दिए गए हैं। सभी Corona पॉजिटिव मरीजों का इलाज शहर के चिरायु और एम्स अस्पताल में चल रहा है।

9 अप्रैल तक पाबंदी…

  • पेट्रोल पंप, किराना सहित सभी दुकानें बंद
  • ये लॉकडाउन नौ अप्रैल तक जारी रहेगा। इसके बाद अफसर लॉकडाउन के नतीजों का रिव्यू करेंगे, इसके बाद ही आगे का निर्णय लिया जाएगा।
  • यदि आप दूध लेने भी जा रहे हैं तो पैदल ही जाना होगा। यदि वाहन लेकर निकले और पुलिस ने रोक लिया तो केस दर्ज किया जा सकता है।
  • दूध, किराना और सब्जी मोहल्ले में ही उपलब्ध है। इस दौरान मेडिकल इमरजेंसी वालों को ही राहत दी जा सकती है।
सावधान… बिना कारण घर से निकले तो गिरफ्तारी

राजधानी में Corona वायरस के कम्युनिटी ट्रांसमिशन का खतरा बढ़ने खतरा बढ़ गया है। इसी वजह से कलेक्टर तरुण पिथोड़े के निर्देश पर एडीएम सतीश कुमार एस ने धारा 144 के लागू आदेश में संशोधन कर दिया है। नया आदेश के मुताबिक रविवार रात 12 बजे से भोपाल (Bhopal) को पूरी तरह लॉक डाउन रहेगा। इस दौरान केवल मेडिकल स्टोर, दूध पार्लर और होम डिलीवरी की सुविधा चालू रहेगी। पेट्रोल पंप, किराना और अन्य दुकानें को दी गई छूट समाप्त कर दी गई है। यानी अब ये दुकानें और पेट्रोल पंप पूरी तरह से बंद रहेंगे। शहर में सब्जी मंडी बंद रहेंगी। व्यापारी किसानों से सब्जी खरीदकर नगर निगम के माध्यम से कॉलोनियाें में बिक्री कर सकेंगे।

अस्पताल में ओपीडी शुल्क मुफ्त, नहीं लगेंगे एक भी पैसे : मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान

कंटेनमेंट क्षेत्र और जोन के बाहर मिले तो गिरफ्तारी

कंटेनमेंट क्षेत्र से बाहर जाना और जोन के बाहर पाए जाने पर आदेश का उल्लंघन माना जाएगा। संबंधित क्षेत्र में पाए जाने पर संबंधित की गिरफ्तारी की जाएगी। सड़क पर कोई भी व्यक्ति घूमते पाए जाने पर गिरफ्तार कर कानूनी कर्रवाई की जाएगी। आपातकालीन सेवाओं के अतिरिक्त अन्य सभी कारणों के लिए दिए गए पास भी निलंबित कर दिए गए हैं।

निजी वाहन के पूरी तरह से प्रतिबंधित

लॉक डाउन में निजी वाहन पूरी तरह से प्रतिबंधित कर दिया गया है। सिर्फ इमरजेंसी सेवा में लगे वाहनों को आने जाने दिया जाएगा। किसी भी क्षेत्र में आवाजाही पूरी तरह से प्रतिबंधित रहेगी।

स्वास्थ्य विभाग के संक्रमित अफसर और कर्मचारी
  • संयुक्त संचालक (अस्पताल प्रशासन) उपेन्द्र दुबे,
  • उप संचालक (एनवीबीसीडी) डॉ. सौरभ पुरोहित,
  • उप संचालक (आईडीएसपी) प्रमोद गोयल,
  • अपर संचालक कैलाश बुंदेला,
  • उप संचालक डॉ हिमांशु जायसवार,
  • कीट विज्ञानी डॉ सतेन्द्र पांडे,
  • विश फाउंडेशन के एडवाजर नरेन्द्र जायसवाल पॉजीटिव पाए गए है।
  • स्वास्थ्य विभाग में बाबू राजकुमार गर्ग,
  • जे विजय कुमार का गनमैन कनलेश शामिल है।
Facebook Comments