युवाओं के लिए खुशखबरी, इस राज्‍य में ग्राम पंचायत सचिव के पद पर निकली बंपर भर्ती

राष्ट्रीय/अंतर्राष्ट्रीय

नई दिल्ली : तेलंगाना सरकार ने राज्य में 9200 ग्रामी पंचायत सचिवों की भर्ती करने का निर्णय लिया है. गांवों के विकास में तेजी लाने के लिए तेलंगाना के मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव ने यह निर्णय लिया है. उन्होंने एक ट्विट के जरिए इस संबंध में जानकारी दी. उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि एक सप्ताह के अंदर भर्ती की प्रक्रिया को शुरू कर दिया जाए और दो महीने के अंदर इस भर्ती को पूरा कर लिया जाए. उन्होंने सभी 9200 गांवों में एक पंचायत सचिव की नियुक्ति के निर्देश दिए हैं.

तीन साल तक रहेगी काम पर नजर
सरकार की ओर से भर्ती किए गए ग्राम पंचायत सचिव अगले तीन साल तक प्रोबेशन पर रहेंगे. यदि इनका प्रदर्शन बेहतर रहता है तो इन्हें नियमित कर दिया जाएगा और वो आगे काम करते रहेंगे. तीन सालों के प्रोबेशन के दौरान समय – समय पर इन ग्राम पंचायत सचिवों के काम की समीक्षा की जाएगी. इन पदों पर भर्ती की जिम्मेदारी पंचायती राज विभाग को दी गई है.

कुछ ग्राम पंचायतों में पहले से हैं सचिव
तेलंगाना में नए पंचायत एक्ट के तहत वर्तमान समय में कुल 12751 ग्राम पंचायतें हैं. वहीं 3562 ग्राम पंचायतों में पहले से ही ग्राम पंचायत सचिव काम कर रहे हैं. हाल ही में सरकार ने कई नई ग्राम पंचायतें बनाई हैं इन ग्राम पंचायतों में नए सचिवों की नियुक्ति की जानी है. वहीं कुछ पुरानी ग्राम पंचायतों में भी सचिवों के पद खाली पड़े हैं.

पंजायती राज विभाग करेगा भर्ती
वर्तमान समय में कुछ ग्राम पंचायत सचिव कई गांवों के विकास के कामों को देख रहे हैं. सरकार ने इस व्यवस्था को खत्म कर हर गांव के लिए एक ग्राम पंचायत सचिव रखने का निर्णय लिया है. इन ग्राम पंचायत सचिवों की भर्ती व उनकी क्या भूमिका होगी यह तय करने का काम राज्य के पंचायती राज्य मंत्री, जुपली कृष्ण राव, मुख्य सचिव एसके जोशी, पंचायती राज्य विभाग के प्रमुख सचिव व कमिश्नर नीतू प्रसाद को दी गई है. सूत्रों के अनुसार जल्द ही मुख्यमंत्री कैबिनेट की बैठक बुला कर इस प्रस्ताव को मंजूरी भी प्रदान कर देंगे.

200 से अधिक लोगों के गांव में होगी नियुक्ति
जिस भी गांव में 200 से अधिक लोग रह रहे होंगे उस गांव में ग्राम पंचायत सचिव की नियुक्ति की जाएगी. मुख्यमंत्री ने कहा कि यदि ये ग्राम पंचायत सचिव अपने काम को जिम्मेदारी पूर्वक निभाते हैं तो आने वाले कुछ सालों में तेलंगाना के गांव देश में आर्दश गांव होंगे.