Vidhansabha Gujrat

राज्यसभा चुनाव से पहले 5 कांग्रेस विधायकों का इस्तीफा, विधानसभा अध्यक्ष ने चार के स्वीकार किए

राष्ट्रीय/अंतर्राष्ट्रीय

गांधी नगर। गुजरात की चार राज्यसभा सीटों पर आगामी चुनावों से पहले, कांग्रेस के पांच विधायकों ने विधानसभा अध्यक्ष राजेंद्र त्रिवेदी को अपना इस्तीफा सौंप दिया। पहले चार कांग्रेस विधायकों ने इस्तीफा दिया था। बाद में, विधायक प्रवीण मारू ने पुष्टि की कि उन्होंने भी इस्तीफा दे दिया है। इससे इस्तीफे की कुल संख्या पांच हो गई। विधायक जेवी काकड़िया और सोमभाई पटेल भी उन विधायकों में शामिल हैं जिन्होंने इस्तीफा दिया है। Resignation of 5 Congress MLAs before Rajya Sabha elections, four accepted by Speaker 

विधानसभा अध्यक्ष ने किया चार विधायकों का इस्तीफा स्वीकार
विधानसभा अध्यक्ष त्रिवेदी ने कहा कि उन्होंने चार विधायकों का इस्तीफा स्वीकार कर लिया है और सोमवार को विधानसभा में उनके नामों की घोषणा करेंगे। 182 सीटों वाली गुजरात विधानसभा में, भाजपा के पास 103 सीटें, कांग्रेस के 73, जबकि दो सीटें भारतीय ट्राइबल पार्टी और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के पास एक है। एक निर्दलीय विधायक भी है। शनिवार को, कांग्रेस ने अपने 14 विधायकों को जयपुर शिफ्ट कर दिया था। उन्हें डर था कि 26 मार्च को राज्यसभा चुनाव से पहले सत्तारूढ़ भाजपा हॉर्स ट्रेडिंग कर सकती है।

ये 14 विधायक जयपुर में
अहमदाबाद एयरपोर्ट से जयपुर जाने वाले 14 विधायकों में लखाभाई भरवाड़ (वीरमगाम), पूनम परमार (सोजित्रा), जिनीबेन ठाकुर (वाव), चंदनजी ठाकुर (सिद्धपुर), रित्विक मकवाना (चोटिला), चिराग कालरिया (जामजोधपुर), बलदेवजी ठाकुर, नाथाभाई पटेल, हिम्मतसिंह पटेल, इंद्रजीत ठाकुर, राजेश गोहिल, अजितसिंह चौहान, हर्षद रिबादिया और प्रद्युम्न सिंह जडेजा शामिल हैं। मीडिया से बात करते हुए राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि कांग्रेस विधायकों पर काफी दबाव है और भाजपा धन और बाहुबल से राज्यसभा चुनाव को प्रभावित करना चाहती है।

ये राज्यसभा उम्मीदवार मैदान में
भाजपा ने चुनाव के लिए अभय भारद्वाज, रामलीला बारा और नरहरि अमीन को मैदान में उतारा है। वहीं कांग्रेस ने वरिष्ठ नेता शक्तिसिंह गोहिल और भरतसिंह सोलंकी को टिकट दिया है। राज्यसभा के उम्मीदवार को जीतने के लिए 37 वोटों की जरूरत होगी। बीजेपी और कांग्रेस दोनों आसानी से सदन में अपनी संख्या के साथ चार में से दो सीटें जीत सकती है, लेकिन किसी भी अतिरिक्त सीटों को जीतने के लिए उसे विपक्षी खेमे के सदस्यों की जरुरत पड़ेगी। बीजेपी को तीसरी सीट जीतने के लिए विपक्षी दल के 5 विधायकों की जरुरत होगी।

Facebook Comments