गुलाम नबी ने ऑपरेशन ऑल आउट को बताया 'जनसंहार', बीजेपी बोली- आतंकियों की भाषा बोल रहे कांग्रेसी

गुलाम नबी ने ऑपरेशन ऑल आउट को बताया ‘जनसंहार’, बीजेपी बोली- आतंकियों की भाषा बोल रहे कांग्रेसी

राष्ट्रीय/अंतर्राष्ट्रीय

नई दिल्ली। कांग्रेस पार्टी अपने नेताओं के बयान पर फंसती नजर आ रही है। पहले सैफुद्दीन सोज और अब गुलाम नबी आजाद का बयान कांग्रेस के लिए मुश्किलें खड़ी करने वाला है। कश्मीर को लेकर गुलाम नबी आजाद ने सेना को निशाना बनाया है उन्होंने अपने बयान में कहा है कि कश्मीर में सेना आम नागरिकों का मार रही है। सेना का ऑपरेशन ऑल आउट नहीं जनसंहार है, इसमें आतंकी कम नागरिक ज्यादा मारे जा रहे हैं। आजाद के इस बयान के बाद आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा ने प्रेस रिलीज जारी कर उनके इस बयान का समर्थन किया है। 

सैफुदीन सोज और राज्यसभा सांसद गुलाम नबी आजाद के बयान पर बीजेपी ने जमकर हमला बोला है। केन्द्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने प्रेस कांफ्रेंस करते हुए कहा है कि कांग्रेसी नेताओं की भाषा आतंकियों की भाषा है। हैरानी होती है कि कांग्रेस में कैसे लोगों को जगह दी जा रही है। राहुल और सोनिया गांधी आजाद के बयान पर जवाब दें, क्यों उन्होंने सेना के खिलाफ इस तरह का बयान दिया है। वोट के लिए राहुल गांधी किसी भी हद तक जा सकते हैं। उन्होंने आतंकियों को धमकाते हुए कहा है कि कोई आतंकी संगठन गुलाम नबी के बयान पर ज्यादा खुश न हो, भारतीय सेना इसी तरह जवाब देती रहेगी। 

लश्कर ने भारत पर लगाया आरोप
लश्कर तैयबा ने प्रेस रिलीज जारी कर भारत पर आरोप लगाया है कि भारत में पिछले सात दशक से जम्मू-कश्मीर में लोगों के साथ गलत व्यवहार किया जा रहा है। ईद और जुमे की नमाज भी नहीं करने दी जा रही है। सेना द्वारा कश्मीरियों की सोच को दबाया जा रहा है। रमजान के मौके पर लागू किए गए सीजफायर को लश्कर ने पूरी तरह से ड्रामा बताया है। लश्कर के इस प्रेस रिलीज पर बीजेपी के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा कि आतंकी संगठन का गुलाम नबी आजाद के बयान का समर्थन बेहद शर्मनाक है। 

बता दें, कि राज्यसभा सांसद गुलाम नबी आजाद ने एक निजी चैनल को दिए इंटरव्यू में कहा है कि केन्द्र सरकार की दमनकारी नीति का सबसे ज्यादा नुकसान कश्मीर की जनता को भुगतना पड़ा रहा है। एक आतंकी को मारने के लिए 13 नागरिकों को मार दिया जाता है। उन्होंने ऑपरेशन ऑल आउट को जनसंहार बताया है। जम्मू-कश्मीर के मुद्दे पर कांग्रेस नेता सैफुद्दीन सोज ने भी विवादित बयान दिया है। उन्होंने पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति परवेज मुशर्रफ के उस बयान का समर्थन किया है जिसमें उन्होंने कहा था कि कश्मीरी आजादी चाहते हैं।