राष्ट्रीय

इस डॉक्टर ने एक नहीं 135 महिलाओ का किया बलात्कार लेकिन एक ने भी नहीं दर्ज करायी रिपोर्ट, जानिये कारण

Aaryan Dwivedi
16 Feb 2021 5:54 AM GMT
इस डॉक्टर ने एक नहीं 135 महिलाओ का किया बलात्कार लेकिन एक ने भी नहीं दर्ज करायी रिपोर्ट, जानिये कारण
x
Get Latest Hindi News, हिंदी न्यूज़, Hindi Samachar, Today News in Hindi, Breaking News, Hindi News - Rewa Riyasat
वडोदरा। अनगढ़ गांव में'डर्टी क्लीनिक'चलाने वाला डॉक्टर प्रतीक जोशी आखिरकार पुलिस के हत्थे चढ़ गया। इलाज की आड़ में लेडी मरीजों को बेहोश करके RAPE करने वाला यह डॉक्टर शुक्रवार को महिसागर जिले के एक गांव से पकड़ा गया। मीडिया के सामने डॉक्टर ने कई सनसनीखेज खुलासे किए। डॉक्टर ने कहा कि उसके पास गांववालों के कई गहरे राज हैं। इस मामले में क्लीनिक का कम्पाउंडर पहले ही अरेस्ट हो चुका है। डॉ. जोशी महिसागर जिले के कडाणा के पास वेलणवाडा गांव से शुक्रवार को पकड़ा गया। डॉक्टर ने कहा कि वीडियो वायरल होने के बाद वो यहां-वहां भागता रहा। इस दौरान उसने कई रातें फुटपाथ पर भी बिताईं। डॉक्टर ने खुलासा किया कि गांव के कई लोग पिछले तीन महीने से उसे ब्लैकमेल करके पैसे ऐंठ रहे थे। उसे टॉर्चर किया जा रहा था। एक बार उसका किडनैप भी किया गया। डॉक्टर ने कहा कि अगर पुलिस मीडिया के सामने उससे पूछताछ करे, तो वो गांववालों के और भी कई राज खोलकर रख देगा। शहर के गोत्री रोड पर स्थित कृष्णा टाउनशिप में रहने वाले BHMS डॉ. प्रतीक जोशी का अनगढ़ गांव में क्लीनिक था। डॉ. जोशी अपने क्लीनिक पर आने वाली गरीब महिला मरीजों का बेहतर इलाज की आड़ में शोषण कर रहा था। डॉक्टर के लेडी मरीजों के साथ फिजिकल रिलेशन बनाने के 25 वीडियो वायरल हुए थे। कंपाउंडर दिलीप गोहिल वीडियो बनाता था, ताकि महिलाओं को ब्लैकमेल किया जा सके। पुलिस पूछताछ में उसने 135 वीडियो बनाने की बात स्वीकार की। पुलिस को गोहिल के पास से 25 वीडियो वाला एक पेन ड्राइव भी मिला। दिलीप ने बताया, वो कई सारे वीडियो डिलीट भी कर चुका है। वीडियो को उसने अपने 4 दोस्तों को भी भेजा था। दोस्तों ने वीडियो वायरल कर दिए। कम्पाउंडर दवाओं के डिब्बे के भीतर मोबाइल छिपाकर रखता था, ताकि लेडी मरीजों को शक न हो। कम्पाउंडर के अनुसार उपसरपंच को डॉक्टर जोशी की करतूतों का पता चल चुका था, इसलिए उसने डॉक्टर से 5 लाख रुपए ऐंठ लिए थे। सिर्फ एक लेडी FIR दर्ज कराने आगे आई 'डर्टी क्लीनिक' की पोल खोलने सिर्फ एक पीड़िता सामने आई। उसने पुलिस में FIR दर्ज कराई। पीड़िता ने पुलिस को बताया-'डॉक्टर मुझे अंदर के रूम में ले गया। उस दौरान मैं बेसुध थी। इसका फायदा उठाकर उसने मेरे साथ RAPE किया और वीडियो भी बनाया।' महिला ने कहा,'एक साल पहले मेरे हाथ-पैर और सिर में दर्द था। इलाज कराने कृष्णा क्लीनिक पर डॉ. प्रतीक जोशी के पास गई। डॉक्टर ने मुझे कोई गोली दी। उसे खाकर मैं बेसुध हो गई। उसके बाद डॉक्टर मुझे क्लीनिक के अंदर ले गया। उस दौरान डॉक्टर प्रतीक और कंपाउन्डर दिलीप गोहिल मौजूद थे। डॉक्टर ने मेरे साथ रेप किया और कंपाउन्डर ने वीडियो बनाया। होश आने के बाद मुझे कुछ पता नहीं चला। इसके बाद दवाई लेकर मैं घर आ गई।' महिला ने आगे बताया-'तीन दिन बाद मैं फिर डॉक्टर के क्लीनिक पर दवा लेने गई। दिलीप गोहिल ने मोबाइल में मुझे रेप का क्लिप दिखाया। कंपाउन्डर ने कहा कि जब-जब डॉक्टर साब बुलाएंगे, तब-तब तुम्हे यहां आना होगा। अगर नहीं आई, तो यह वीडियो वायरल करके बदनाम कर देंगे। और अगर तुम आती रही, तो डॉक्टर साब तुझे पैसा भी देंगे। महिला ने पुलिस के अपनी आपबीती सुनाई-'डॉ. जोशी मुझे फोन करके बुलाते थे। मुझे बदनामी के डर से जाना पड़ता था। डॉक्टर मुझे दवा खिलाकर पहले बेसुध करता था। ऐसा करके उसने 7-8 बार दुष्कर्म किया।
Next Story
Share it