Sidhi में Ventilators सिर्फ 1, जनसँख्या १२ लाख पार, Corona पीडि़तों का इलाज़…

सीधी

Sidhi में Ventilators सिर्फ 1, जनसँख्या १२ लाख पार, Corona पीडि़तों का इलाज़…

SIDHI। CORONA संकट के दौर में जिले के स्वास्थ्य महकमे को VENTILATORS की कमी खल रही है। फिलहाल जिले में एक VENTILATORS ही है। जिले की सबसे बड़ी चिकित्सालय जिला चिकित्सालय मे सिर्फ एक VENTILATORS मौजूद हैं शेष एक भी शासकीय अस्पतालोंं मे VENTILATORS की सुविधा उपलब्ध नहीं है।

जिले की आबादी करीब १२ लाख पार कर चुकी है और हालांकि प्रशासनिक प्रयास के कारण चिकित्सा विभाग जगह-जगह CORONA को लेकर आइसोलेशन वार्ड को दुरुस्त करने मे जुटा हुआ है। इस बीच अस्पतालों में जरूरी उपकरणों की कमी भी देखने को मिल रही है।

पीडि़तों को VENTILATOR पर रखा जाता है

बताया गया कि CORONA वायरस से पीडि़त गंभीर मरीजों को वेंटिलेटर पर ही रखा जाता है। कारण कि कृत्रिम सांस देने के साथ ही आर्टबीट, पल्स रेट समेम तमाम बिंदुओं पर नजर रखने के लिए वेंटिलेटर अहम है। हालाकि जिले मे अभी तक एक भी CORONA पाजिटिव का केस सामने नहीं आया, लेकिन फिर यहां ऐतिहातन वेंटिलेटर की जरूरत तो हो सकती है।

तेजी से बड़ रहे मामले-

भारत मे हर दिन CORONA संक्रमित नए मामले मिलने की दर बढ़ रही है। जानकारी के अनुसार संक्रमण दर में ऐसी ही वृद्धि इटली व ईरान मे दखने को मिली थी। इसके बाद वहां के अस्पतालों में वेंटिलेटर पर इलाज की जरूरत वाले मरीजों का भार बढ़ गया और स्थिति अनियंत्रित हो गई। गौरतलब है कि वेंटिलेटर बनाने के लिए सरकार को मोटा बजट खर्चना होता होगा, क्योंकि एक वेंटिलेटर की कीमत आठ से दस लाख रुपए होती है।

तीन वेंटिलेटर की गई है मांग-
अभी तक अपने पास सिर्फ एक वेंटिलेटर है जो जिला चिकित्सालय मे स्थापित है, जो पर्याप्त नहीं है। इस कमी को देखते हुए राज्य शासन से तीन और वेंटिलेटर की मांग की गई है, जैसे ही बजट प्राप्त हो जाता है वैसे ही खरीदी कर उसे स्थापित करा दिया जाएगा।
डॉ. आरएल वर्मा
मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी, सीधी
Facebook Comments