सतना: तालाब के पानी मे जहर, हजारों मछलियों की मौत, पढ़िए पूरी खबर

सतना: तालाब के पानी मे जहर, हजारों मछलियों की मौत, पढ़िए पूरी खबर

सतना

सतना: तालाब के पानी मे जहर, हजारों मछलियों की मौत, पढ़िए पूरी खबर

सतना (विपिन तिवारी ) । नागौद थाना इलाके के एक तालाब का पानी जहरीला हो गया है। तालाब के पानी मे जहर मिला दिया गया है । पानी मे मिला यह जहर हजारों मौत का सबब बन गया है। हासिल हुई जानकारी के अनुसार नागौद तहसील मुख्यालय से कुछ दूरी पर स्थित खखरौंधा – बारा पत्थर तालाब के पानी मे अज्ञात लोगों ने जहर मिला दिया है। पानी मे मिले जहर के कारण तालाब में रहीं हजारों मछलियों की मौत हो गई है। सुबह हजारों की तादाद में मछलियां तालाब के पानी मे ऊपर ही उतराती पाई गईं। यह नजारा देख कर लोगों के होश उड़ गए।

मछली चोरों ने किया पानी को जहरीला

माना जा रहा है कि यह हरकत मछली चोरों की है। रात में मछली पकड़ने के लिए तालाब में जाल फेंकने वाले मछली चोरों ने ही तालाब के पानी को जहरीला बनाया है। घटना की सूचना नागौद पुलिस को दी गई है। इस पानी का इस्तेमाल ग्रामीण निस्तार के लिए भी करते हैं लेकिन चोरों की हरकत के कारण फिलहाल पानी का इस्तेमाल उनके लिए भी खतरनाक हो गया है।

म.प्र. के इन जिलों में होगी भारी बारिश , IMD ने दी चेतावनी

हर साल यही हरकत

क्षेत्रीय लोगो ने बताया कि 15 अगस्त के बाद मत्स्याखेट से प्रतिबंध हट जाता है और मछली पकड़ने वाले सक्रिय हो जाते हैं। चोर गिरोह भी काम पर निकल पड़ता है और तालाबों को निशाने पर ले लेता है। मछलियां पकड़ने के लिए तालाब में जहरीला केमिकल डाल देते हैं जिसके प्रभाव से मछलियां ऊपर आ जाती हैं। लेकिन पानी मे केमिकल का असर उसके बाद भी रहता है जिसके कारण तमाम मछलियां मर जाती हैं।

अंधी हो जाती हैं मछलियां

जानकार बताते हैं कि मछली चोरों द्वारा जिस केमिकल का इस्तेमाल किया जाता है वह मछलियों को एक तरह से अंधा कर देता है। मछलियां तड़पने – छटपटाने लगती हैं और पानी के अंदर से सतह पर आ जाती हैं। ऊपर आ गई बड़ी मछलियों को चोर अपने जाल में फंसा कर समेट ले जाते हैं जबकि छोटी मछलियां और बच्चे मर जाते हैं।

सीधी: गोपद नदी का सीना चीर रहे खनिज माफिया, शाम ढलते ही शुरू हो जाता है अवैध रेत का कारोबार…

रीवा कलेक्टर का आदेश, भारी वाहन नही कर सकेंगे प्रवेश, जानिए कौन कौन से मार्ग बदले गए

इंदौर की सड़को में चल रही नाव, फंसे लोगो को रेस्क्यू कर निकाला जा रहा…

मौसम विभाग ने मध्यप्रदेश में भारी बारिश होने की आशंका जताई, जानिए कौन कौन से जिले होंगे प्रभावित

‘आपदा ही अवसर है’ को गंभीरता से लेते हुए कोरोना के नाम पर करोड़ों डकार गया रीवा का CMHO, अब EOW खोल रही है पोल

[signoff]