BHOPAL से REWA आ रही बस में SATNA की महिला निकली पॉजिटिव, डॉ सिंघल के बेटी की रिपोर्ट निगेटिव

SATNA में दो कैदियों पर CORONA के लक्षण, रिपोर्ट ने उड़ाए होश, कई लोग सम्पर्क..

सतना

SATNA में दो कैदियों पर CORONA के लक्षण, रिपोर्ट ने उड़ाए होश, कई लोग सम्पर्क..

SATNA। इंदौर से SATNA केन्द्रीय जेल भेजे गए कैदी के सैम्पल की पहली जांच के परिणाम SATNA जिले के लिये काफी निराशाजनक है। आईसीएमआर लैब जबलपुर की टेस्ट रिपोर्ट CORONA संक्रमण जैसे लक्षण पाये गए हैं। लिहाजा इसे दोबारा परीक्षण के लिये लिया गया। ऐसी स्थिति में परीक्षण रिपोर्ट आने तक आईसीएमआर ने जिला प्रशासन को संबंधित कैदियों को आइसोलेशन में रखने कहा गया है।

विदेशों की सैर करके REWA आए 69 लोग गायब, गाँव में छिपने के आसार…

देर रात SATNA पहुंची रिपोर्ट ने उड़ाए होश

जानकारी के अनुसार इंदौर से SATNA भेजे गए कैदियों की CORONA जांच के लिये सैम्पल विगत दिवस आईसीएमआर लैब जबलपुर भेजे गए थे। रात को इनकी रिपोर्ट SATNA पहुंची है। समीर और इमरान खान नामक व्यक्तियों के रिजल्ट में जांच अन्डर प्रोसेस बताते हुए मरीज को अगली रिपोर्ट आने तक आईसोलेशन में रखने कहा गया है।

CM SHIVRAJ का बड़ा बयान: जारी रहेगा LOCKDOWN लेकिन ये होंगे बदलाव

आईसीएमआर सूत्रों के अनुसार इनकी पहली जांच रिपोर्ट में CORONA संक्रमण के लक्षण पाए गए हैं जो CORONA पॉजीटिव होने के संकेत हैं। लिहाजा प्रोटोकॉल के अनुसार इनके सैम्पल का दोबारा परीक्षण किया जाएगा। इसके बाद रिपोर्ट जैसी आएगी उसके अनुसार मरीज को CORONA पॉजीटिव या निगेटिव घोषित किया जाएगा। कुल मिलाकर SATNA के भाग्य का फैसला रविवार को हो जाएगा कि SATNA CORONA मुक्त रहता है या नहीं।

MP में स्कूलों ने जबरन फीस मांगी तो खैर नहीं, पढ़िए पूरी खबर

इस मामले में कलेक्टर अजय कटेसरिया से बात की गई तो उन्होंने बताया कि अभी रिजल्ट स्पष्ष्ट नहीं है लिहाजा कुछ कहा नहीं जा सकता है। अभी आईसीएमआर ने संबंधितों को आईसोलेशन की सलाह दी है। हालांकि हम पहले से इन्हें आईसोलेट किये हुए हैं।

10 जेल स्टाफ जीएनएम हॉस्टल में किए गए क्वारंटाइन

इंदौर में CORONA स्क्रीनिंग के लिये गए चिकित्सा अमले और पुलिस दल पर पत्थरबाजी करने वाले लोगों पर इंदौर कलेक्टर मनीष सिंह ने रासुका लगाते हुए SATNA और जबलपुर सेन्ट्रल जेल भेज दिया। अब उनका यही आदेश दोनों जिलों को भारी पड़ रहा है। इन कैदियों में से एक जावेद जिसे जबलपुर सेन्ट्रल जेल भेजा गया था उसे CORONA संक्रमित पाया गया है। जैसे ही यह जानकारी सामने आई है दोनों जिलों में हड़कम्प मच गया है और आनन-फानन में उन सभी लोगों की पहचान की गई जो इनके संपर्क में आए थे।

छानबीन में SATNA सेन्ट्रल जेल के 10 स्टाफ CORONA पॉजीटिव मिले कैदी जावेद के साथ आए कैदी के संपर्क में आना पाये गए, जिस पर उन्हें जीएनएम हास्टल में बनाए गए क्वारंटाइन सेंटर में दाखिल करा दिया गया है। इसी तरह कैदियों को छोड़ कर जाने वाले स्टाफ के संपर्क में आने वाला नागौद का एक चाय गुमटी संचालक सहित नागौद थाने का मुंशी में क्वारंटाइन किया गया है।

REWA में 12 संदिग्ध आइसोलेट, जमाती कनेक्शन की चर्चा, पढ़िए

कलेक्टर इंदौर का था फैसला

पत्थरबाजी मामले में सात लोगों को इंदौर कलेक्टर ने रासुका लगाते हुए SATNA और जबलपुर सेन्ट्रल जेल भेजने के आदेश जारी किए थे। इसके बाद जेल वाहन से एक सब इंस्पेक्टर की अभिरक्षा में इन कैदियों में से कुछ को जबलपुर सेन्ट्रल जेल और चार को SATNA सेन्ट्रल जेल छोड़ा गया। तय प्रोटोकॉल के आधार पर इंदौर से आए इन कैदियों का कोविड-19 परीक्षण कराया गया। जिसमें से जबलपुर वाले कैदियों की रिपोर्ट शनिवार की सुबह आ गई। जिसमें से एक कैदी जावेद CORONA पॉजीटिव पाया गया।

जैसे ही जबलपुर में एक कैदी CORONA संक्रमित पाया गया आनन फानन में इसकी सूचना SATNA जिला प्रशासन को दी गई। क्योंकि इन कैदियों के साथ इंदौर से कैदी SATNA सेन्ट्रल जेल में भी आए थे। सूचना मिलते ही यहां हड़कम्प की स्थिति बन गई। कलेक्टर ने तत्काल एसडीएम के नेतृत्व में एक टीम गठित कर सेन्ट्रल जेल भेजा। यहां यह जांच की गई कि इंदौर से आए कैदी के संपर्क में कौन-कौन रहा।

10 लोगों का संपर्क होना पाया गया

एसडीएम पीएस त्रिपाठी, एडिशनल एसपी गौतम सोलंकी, तहसीलदार मानवेन्द्र सिंह सहित कोलगवां थाना स्टाफ ने जेल पहुंच कर जांच की तो पाया कि इन कैदियों में से दो की रिपोर्ट निगेटिव आ चुकी है। दो की रिपोर्ट आनी बाकी है। फिर भी प्रोटोकॉल के अनुसार परीक्षण में पाया गया कि 10 की संख्या में जेल स्टाफ इनके संपर्क में रहा। इन सभी को कलेक्ट्रेट भवन के बगल में स्थित जीएनएम हास्टल में बनाए गए क्वारंटाइन सेंटर में दाखिल कराया गया है। इनकी जांच और स्वाब सैम्पलिंग की कार्रवाई भी शुरू कर दी गई है।

Facebook Comments