मृत समझकर अंतिम संस्कार कर दिया था, चार माह बाद अचानक घर आ पहुंचा, जानिए फिर क्या हुआ...

देश के रहने लायक शहरों में सतना 68 वें स्थान पर… : REWA NEWS

सतना

सतना. हमारा शहर रहने के लिए कितना बेहतर है, इसके लिए केंद्रीय शहरी विकास मंत्रालय देशभर की स्मार्ट सिटी सहित 11७ शहरों में जीवन-यापन के लिए आवश्यक बुनियादी व्यवस्थाओं के आकलन के लिए ईज ऑफ लिविंग इंडेक्स व म्यूनिसिपल परफॉर्मेंस इंडेक्स 2019 सर्वे करा रहा है। 1से 28 फरवरी तक ऑनलाइन किए जा रहे इस सर्वे में इंदौर देश में पहले स्थान पर बना हुआ है। सिटीजन फीडबैक के आधार पर कराए जा रहे सर्वे में सतना देश के रहने लायक शहरों में 68 वें स्थान पर तथा प्रदेश के सात स्मार्ट शहरों में छठे स्थान पर है। बीते 25 दिनों में शहर के मात्र 3389 लोगों ने अपना फीडबैक दिया है जबकि इंदौर के एक लाख से अधिक लोग ऑनलाइन सर्वे में भाग ले चुके हैं।

इस सर्वे के आधार पर ईज ऑफ लिविंग इंडेक्स यानी जीवन जीने की सुगमता का सूचकांक तैयार किया जाएगा। सर्वे के दौरान लोगों से शहर के आधारभूत ढांचे, यातायात, कानून व्यवस्था, परिवहन, बिजली, पानी, शिक्षा, सुरक्षा, मनोरंजन जैसी बुनियादी सुविधाओं के स्तर के बारे में पूछा जा रहा। ऑनलाइन सर्वे में शहरवासियों के फीडबैक के आधार पर शहरों की रैकिंग तय की जाएगी। सरकार के पास जितना ज्यादा फ ीडबैक पहुंचेगा, उसी के आधार पर शहर की रैकिंग भी तय होगी। भविष्य में उसी के आधार पर शहर के लिए योजनाएं बनाई जाएंगी।


इन बिंदुओं पर हो रहा सर्वे

सर्वे में जो सवाल पूछे गए हैं उनमें शहर रहने के लिए कितना सुगम है, शिक्षा की गुणवत्ता, स्वास्थ्य सेवाओं की व्यवस्थाएं, आवासीय सुविधा, हवा की शुद्धता, शहर की साफ -सफ ाई की स्थिति, आस-पड़ोस से कूड़ा उठाने की व्यवस्था, पीने के पानी की स्थिति, जलभराव की समस्या, शहर में यात्रा करना कितना सुरक्षित और आसान, शहर रहने के लिए कितना सुरक्षित व महफूज, आपातकालीन सेवाओं की क्षमता, महिलाओं की सुरक्षा, मनोरंजन के साधन, बिजली आपूर्ति, बैंकिंग, बीमा और एटीएम की सुविधाएं शामिल हैं।

निगम प्रशासन की नहीं रुचि
हमारा शहर रहने के लिए कितना बेहतर है…, केंद्र सरकार द्वारा कराए जा रहे इस सर्वे में सतना स्मार्ट सिटी को भी शामिल किया गया है। इस सर्वे में निगम प्रशासन की रुचि न होने के कारण बेहतर शहरों की रैकिंग में एक बार फिर शहर की किरकिरी होना तय है। निगम प्रशासन की उदासीनता का अनुमान इससे लगाया जा सकता है कि सर्वे ईज ऑफ लिविंग इंडेक्स का हो रहा है और निगम प्रशासन जागरुकता अभियान कचरा नीले और हरे डस्टबिन में डालने का चला रहा है। परिणाम, इस सर्वे में शहर प्रदेश के सात स्मार्ट शहरों में नीचे से दूसरे स्थान पर है।
शहरों की वर्तमान स्थिति

रैंक शहर
01 इंदौर

08 ग्वालियर
15 भोपाल

28 जबलपुर
45 उज्जैन

68 सतना
83 सागर

Facebook Comments