दो गुटों के संघर्ष में एक मृत, कई लोग घायल : SATNA NEWS

सतना : बारात लेकर आई बस में मिली खलासी की लाश, परिजन ने जताई हत्या की आशंका

छतरपुर मध्यप्रदेश सतना

सतना। छतरपुर से बारात लेकर मझगवां आई बस के खलासी की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई, जिस पर मर्ग कायम कर जांच की जा रही है। वहीं परिजनों ने चालक और मालिक पर हत्या का आरोप लगाया है।

पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक छतरपुर जिले के मनवारा से साहू परिवार की बारात बस क्रमांक एमपी 19 पी- 0392 से रविवार रात को मझगवां निवासी मोहन साहू के घर पर आई थी। बारातियों को जनवासे में उतारने के बाद चालक जाफिर शाह पुत्र चुन्नू शाह निवासी छतरपुर ने गाड़ी को थाने के पास खड़ी कर दिया था,जिसमें खलासी कमल यादव पुत्र प्रहलाद यादव 25 वर्ष निवासी बहरोवा पुरवा थाना गिरवा जिला बांदा (उत्तर प्रदेश) पीछे की सीट पर सो रहा था। तकरीबन साढ़े 10 बजे खाना खाने के बाद चालक भी वापस आकर बस में सो गया। लेकिन जब सोमवार सुबह उसकी नींद खुली तो आगे वाले गेट के पास फर्स पर कमल पड़ा मिला। हिला-डुला कर देखने पर पता चला कि उसकी मौत हो चुकी है। लिहाजा चालक ने थाने जाकर सूचना दी तो थाना प्रभारी ओपी सिंह मौके पर जाकर जांच शुरु कर दी।

बस के पिछले गेट पर खून के छींटे मिले
बस का बारीकी से मुआयना करने पर पीछे वाले गेट की सीढिय़ों में खून के छींटे दिखे, जिससे मामला संदिग्ध हो गया,तब थाना प्रभारी ने फौरन ही जिला मुख्यालय में संपर्क कर फॉरेंसिक अधिकारी डॉ.महेन्द्र सिंह और डॉग स्क्वॉड को बुला लिया। फॉरेंसिक टीम ने बस और आस-पास के इलाके की सर्चिंग कर भौतिक साक्ष्य जुटाए तो खून के नमूने भी लिए पर मृतक के शरीर पर कहीं चोंट या घाव का निशान नहीं मिला।

बिसरा सुरक्षित, खून का नमूना लिया
पुलिस ने शव को मरचुरी भेजा जहां डॉ.तरुणकांत त्रिपाठी ने पोस्टमार्टम किया और बिसरा सुरक्षित कराया,जिसे परीक्षण के लिए सागर भेजा जाएगा। इसके अलावा खून का नमूना भी लिया गया।

चालक और बरातियों से पूछताछ
मामला संदिग्ध होने पर पुलिस ने चालक को हिरासत में लेकर पूछताछ की,तो बारातियों के बयान भी दर्ज कि ये। जिससे पता चला कि खलासी कमल छतरपुर से ही शराब पीकर चला था। रास्ते में वह एक जगह गिर गया था तब बारातियों ने ही संभाला था। मृतक पूर्व से शराब का आदी था,ऐसे में ओवरडोज से मौत की आशंका जताई जा रही है।

परिजन ने मालिक और चालक पर लगाए आरोप
घटना की खबर लगने पर मृतक कमल की पत्नी,माता-पिता और कई रिश्तेदार मझगवां पहुंच गए थे। उन्होंने चालक और मालिक पर हत्या का आरोप लगाकर दोनों को पकडऩे की मांग की। गौरतलब है कि परिहार ट्रेवल्स की बस बांदा जिले के बिसण्डा निवासी दीपक सिंह परिहार की बताई जाती है। पोस्टमार्टम के बाद परिजन शव लेकर गांव चले गए।