खाने के लिए ससुर को बुलाने गई थी बहू, लेकिन वहां होने लगा कुछ ऐसा, देखकर सास और पति के उड़े होश

सतना

चित्रकूट. सास ससुर से विवाद के चलते महिला ने ऐसा खौफनाक कदम उठाया कि पूरे परिवार की खुशियों पर ग्रहण लग गया। परिजनों में कोहराम मचा है तो वहीँ क्षेत्र में घटना को लेकर तरह तरह की चर्चाओं का बाजार गर्म है। महिला ने ससुर से विवाद होने पर परिजनों के सामने ही कुंए में छलांग लगा दी। दृश्य देख सभी के होश उड़ गए। आनन फानन में किसी तरह महिला को कुंए से बाहर निकाला गया लेकिन तब तक उसकी मौत हो चुकी थी। घटना के बाद से गांव में भी सनसनी फैल गई है।

परिवार में छाया मातम

जमीन जायदाद को लेकर चल रहे आपसी विवाद ने आत्मघाती रूप लेते हुए एक परिवार की हंसी ख़ुशी जिंदगी पर मातम का लेबल लगा दिया। सास ससुर से विवाद क्या हुआ कि क्रोध में महिला ने अपने पति और बच्चों की परवाह न करते हुए कुंए में छलांग लगा दी।

जमीन जायदाद को लेकर चल रहा विवाद

घटना जनपद के मऊ थाना क्षेत्र अंतर्गत बेलहा गांव की है। जानकरी के मुताबिक उक्त गांव निवासी रघुवंश के घर में श्री रामचरितमानस के पाठ का आयोजन किया गया था जिसके बाद भंडारे का भी कार्यक्रम होना था। रघुवंश के परिवार में उसके भाइयों से जमीन जायदाद को लेकर काफी दिनों से विवाद की स्थिति बनी हुई है। आए दिन परिजनों के बीच लड़ाई झगड़ा आदि होता रहता है। घर की महिलाओं के बीच भी अक्सर विवाद होता रहता है।

सास ससुर को भोजन पर आमंत्रित करने गई थी महिला

घटना की जानकारी के मुताबिक श्री रामचरितमानस पाठ के बाद होने वाले भंडारे में भोजन पर आमंत्रित करने के लिए रघुवंश की पत्नी कमलादेवी बगल में रहने वाले अपने सास ससुर के पास गई और उसने भंडारे में चलने के लिए कहा। जानकारी के अनुसार ससुर ने जाने से मना कर दिया और इसी बात को लेकर कमलादेवी से उसके ससुर का विवाद हो गया।

कुंए में लगाई छलांग

विवाद के दौरान ही महिला (कमला देवी) ने पास के ही कुंए में जाकर छलांग लगा दी। आंखों के सामने बहू को कुंए में कूदते देख सास ससुर की चीखें निकल आईं। चीख पुकार पर महिला का पति(रघुवंश) और अन्य ग्रामीण कुंए की ओर दौड़े और किसी तरह से महिला को बाहर निकालने की कोशिश करने लगे। काफी मशक्कत के बाद जब कुछ देर बाद महिला को कुंए से निकाला गया तब तक उसकी सांसे थम चुकी थीं। मौत की खबर से परिजनों में कोहराम मच गया। मृतका के पति ने बताया कि घर में बंटवारे को लेकर विवाद चल रहा है। भंडारे में पत्नी को भेजा था माता पिता को बुलाने के लिए लेकिन फिर भी वे नहीं आए जिससे उसकी पत्नी क्षुब्ध हो गई और उसने ऐसा आत्मघाती कदम उठा लिया। मृतका के दो पुत्र और दो पुत्री हैं जिनका रो रो कर बुरा हाल है। थानाध्यक्ष मऊ शंत सरण का कहना है कि पारिवारिक विवाद ही प्रथम दृष्टया सामने आया है, फ़िलहाल शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है।