रीवा में क़ानून व्यवस्था ध्वस्त! जिले का चप्पा-चप्पा जानने वाले पुलिस कप्तान के सामने 'रोजाना बढ़ता जा रहा है अपराध का ग्राफ'

रीवा में क़ानून व्यवस्था ध्वस्त! जिले का चप्पा-चप्पा जानने वाले SP के सामने ‘रोजाना बढ़ रहा है अपराध का ग्राफ’

मध्यप्रदेश रीवा

रीवा. जिस जिले की क़ानून व्यवस्था चौपट हो उस जिले में अपराध का ग्राफ बढ़ना कोई आम बात नहीं है. रीवा में इन दिनों क़ानून व्यवस्था चौपट नजर आ रही है. जिले में रोजाना बढ़ रहें अपराध के ग्राफ तो यही कह रहें हैं. जबकि जिले के पुलिस कप्तान खुद को रीवा का चप्पा चप्पा जानने वाले कहते हैं.

रीवा जिला और अपराध का रिश्ता तो सालों से बहुत गहरा है. लेकिन जिस तरह से इन दिनों रोजाना हत्याएं, बलात्कार, डकैती जैसे मामले सामने आ रहें हैं. वे पुलिस प्रशासन की क़ानून व्यवस्था पर सवालिया निशान जरूर लगा रहें हैं. इसका साफ़ मतलब है कि जुर्म करने वालों को क़ानून का किंचित भी भय नहीं है.

जिले का चप्पा-चप्पा जानने वाले एसपी राकेश सिंह के रहते रोजाना हत्या-बलात्कार

कोरोना काल के दौरान ही एसपी राकेश सिंह का स्थानांतरण रीवा में किया गया. रीवा बड़ा जिला है लिहाजा राज्य सरकार ने बड़ी जिम्मेदारी देकर राकेश सिंह को रीवा भेजा होगा. राकेश सिंह रीवा पुलिस कप्तान का पदभार सम्हालने के पहले भी रीवा में सीएसपी के रूप में अपनी सेवाएं दे चुके हैं. इसी वजह से उन्होंने खुद को रीवा का चप्पा-चप्पा जानने वाला बताया था. परन्तु ये क्या…. एसपी साहब के कार्यकाल में तो क़ानून का डर ही नहीं दिख रहा? रोजाना हत्याएं हो रही हैं. खुलेआम दिनदहाड़े कोई किसी को चाकू मार देता है, लाठी डंडे से पीट पीट कर ह्त्या कर देता है तो कोई शहर के बीचों बीच हिट एंड रन केस को अंजाम दे देता है?

रीवा में क़ानून व्यवस्था ध्वस्त! जिले का चप्पा-चप्पा जानने वाले पुलिस कप्तान के सामने 'रोजाना बढ़ता जा रहा है अपराध का ग्राफ'

हत्या, बलात्कार के मामले रोजाना बढ़ रहें

हत्या जैसे जघन्य अपराध के मामले में जहां रीवा, भिंड-मुरैना-बांदा जैसे जिलों के समानांतर खड़ा होने लगा है. जिससे आम नागरिक भय के वातावरण में रह रहा है. वहीं रोजाना बलात्कार एवं सामूहिक बलात्कार के सामने आ रहें मामले भी महिलाओं एवं युवतियों में भय का माहौल पैदा कर रहें हैं.

रीवा में क़ानून व्यवस्था ध्वस्त! जिले का चप्पा-चप्पा जानने वाले पुलिस कप्तान के सामने 'रोजाना बढ़ता जा रहा है अपराध का ग्राफ'

नशे की कालाबाजारी के खिलाफ मुहिम भी फ्लॉप

पुलिस कप्तान के रूप में जब राकेश सिंह ने रीवा का पदभार सम्हाला, उन्होंने नशे के खिलाफ मुहिम शुरू की, जो प्रशंसनीय रही. काफी सफलताएं भी पुलिस कप्तान को मिली. फिर भी रीवा वासियों तक पहुँच रहे नशीले सामानों की सप्लाई करने वाले तस्करों पर लगाम नहीं लगा पाएं. छोटे मोटे सप्लायर को पकड़कर मामले से इतिश्री कर ली. समाचारों की सुर्ख़ियों तक कार्रवाई सिमट कर रह गयी. परन्तु पुलिस किसी भी सप्लायर का मुँह नहीं खुलवा पाई जिससे वह बड़े तस्कर तक पहुँच सके, जिसके चलते जिले में नशे का कारोबार बदस्तूर जारी है और लगातार बढ़ता जा रहा है.

जब रीवा में धूं-धूं कर जलने लगा आटो तो मच गई भगदड़, पढिए पूरा घटनाक्रम

नशीली सिरप रीवा के युवाओं के रग में

सबसे बड़ी बात तो यह है कि रीवा में कई नामी गिरामी अफसर आएं, एसपी, कलेक्टर, आईजी और कमिश्नर आएं गए लेकिन रीवा में नशीली सिरप का अवैध कारोबार करने वालों के गिरेबान तक नहीं पहुँच पाएं. आज तक यह नहीं पता कर पाएं कि आखिर ये आती कहाँ से हैं और जिले में कहाँ डंप हो रही हैं. बस पढ़ने, लिखने और कुछ करने की उम्र वाले युवा पीढ़ी के रग रग में नशा समाता जा रहा है. जिस पर कोई लगाम नहीं है.

हाल में हुए इन आपराधिक घटनाओं पर करें गौर

  • जिले की आपराधिक प्रवृत्ति के लोगों का कानून का भय नाम मात्र का भी नहीं है, यही वजह है कि अंतरैला थाना क्षेत्र की एक 14 वर्षीय किशोरी ने अपने साथ हुए दुष्कर्म के चलते आत्मसम्मान के लिए मौत का रास्ता चुन लिया है.
  • मामूली विवाद में सिरमौर चौराहे के पास कार चालक ने युवक को कुचल कर मौत के घाट उतार दिया था.
  • बेखौफ अपराधियों ने गढ़ थानाक्षेत्र में एक नाबालिक लड़की के साथ दुष्कर्म कर प्राईवेट पार्ट में चाकू घोंप दिया था.
  • हनुमना थाना क्षेत्र में एक विधवा महिला के साथ कई लोगों ने बलात्कार की घटना को अंजाम दिया था.
  • हफ्ते भर पूर्व शहर के चिरहुला क्षेत्र के बदरांव के पास दो लोगों पर चाकू से हमला किया गया था, जिसमें एक की मौत हो गई थी.
  • चोरहटा थाना के अमवा गांव में एक नाबालिक लड़के के सीने में चाकू घोंप दिया गया था, घटनास्थल में ही लड़के की मौत हो गई थी.
  • चोरहटा थाना के ही दादर गांव में पति पत्नी की पीट पीटकर निर्मम हत्या कर दी गई थी।
  • तराई अंचल में ससुर ने दामाद की पीट पीट कर हत्या कर दी थी.
  • अनंतपुर निवासी एक इंजीनियर लापता हुआ था, जिसका शव क्योंटी फॉल में मिला था.
  • ऐसे ही कई घटनाएं है, जो आए दिन हो रही है एवं जिले की कानून व्यवस्था को ठेंगा दिखा रही हैं. सभी मामलों में भले ही पुलिस कार्रवाई की राग अलाप रही हो लेकिन बेखौफ चेहरों में कानून का भय नहीं है.

मनगवां विधायक ने एसपी पर लगाए गंभीर आरोप

इधर, मनगवां विधायक पंचुलाल प्रजापति ने एसपी के खिलाफ शिकायत की है. विधायक ने रीवा एसपी के खिलाफ गृहमंत्री को पत्र लिखा है. पत्र में विधायक ने रीवा एसपी राकेश सिंह पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा है कि एसपी ने थाना प्रभारी को हटाने की साजिश रची है. डॉ प्रजापति ने पत्र में लिखा है कि एसपी द्वारा चहेते थानादारों को पदस्थ करने के लिए क्षेत्र के चहते मनगवां थाना के निरीक्षक सुरेश कुमार शुक्ला को निलंबित किया गया है.

विधायक ने पत्र में लिखा कि एसपी द्वारा पहले भी निरीक्षक सुरेश कुमार शुक्ला का तबादला करने का प्रयास किया गया था. जिसे मेरे द्वारा रुकवा दिया गया था. लेकिन अब एसपी और एसडीओपी मनगवां द्वारा कूटरचित तरीके से उपनिरीक्षक को निलंबित करने की कार्रवाई की गई है. इस मामले को यदि गृहमंत्रालय संज्ञान में नहीं लेता तो विधायक एसपी कार्यालय के सामने अनशन पर बैठेंगे.

ख़बरों की अपडेट्स पाने के लिए हमसे सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर भी जुड़ें: Facebook | WhatsApp | Instagram | Twitter | Telegram | Google News

यहाँ क्लिक कर RewaRiyasat.Com Official Facebook Page Like करे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *