बदमाशों ने उगला ऐसा राज, हैरान रह गई पुलिस

रीवा

मिर्ज़ापुर. सड़को पर लिफ्ट देने के बहाने रास्ते में नशीला पदार्थ खिलाकर उनसे लूट-पाट करने वाले गिरोह का पुलिस ने गिरफ्तार करते हुए खुलासा किया। क्षेत्राधिकारी सदर बृजेश कुमार त्रिपाठी ने देहात कोतवाली में आयोजित पत्रकार वार्ता में बताया कि ये बेहद ही शातिर है। यह अपने वाहन में लिफ्ट लेने के बहाने यात्रियों को बैठाते थे। इसके बाद उन्हें नशीला पदार्थ खिलाकर लूटपाट करते थें। गिरफ्तारी के बाद पूछताछ में मिली जानकारी से पुलिस भी हैरान रह गई।

पुलिस के अनुसार शातिर इलाहाबाद, प्रतापगढ़ ,जौनपुर वाराणसी ,भदोही और मीरजापुर के ड्रमंडगंज, टेढ़वा, लालगंज , कछवां, शीतला मंदिर आदि व्यस्त स्थानों पर यह अपना वाहन खड़ा कर देते थें। यात्रियों को गणतव्य तक छोड़ने के लिये बैठाते थें। साथ ही यात्रियों के साथ वाहन में इनके लोग भी बैठ जाते थे। यह लोग मार्ग में इन यात्रियों से घुलमिल कर उन्हें मिठाई में नशीला पदार्थ खिलाकर उनका सामान और पैसे उड़ा देते थें। पिछले काफी दिनों से ये लोग इस तरह की घटनाओं को अंजाम दे रहे थे।

पुलिस के अनुसार मुखबिरों से सूचना मिली थी कि इलाहाबाद से एक मार्शल गाड़ी UP70 Y 0056 ग्राम हर्रइ होते हुए रीवा कि तरफ जाने वाली है। इस पर पुलिस ने घेरेबंदी कर करनपुर के पास गाड़ी को रोक लिया। पूछताछ के दौरान गिरफ्तार आरोपियों में मोहम्मद ताजीम, घनश्याम, मोहम्मद रहमान , नियाज अहमद और श्रवण कुमार ने अपना राज उगला तो पुलिस भी हैरान रह गयी। पुलिस के अनुसार यह लोग टेंगरा मोड़, लालगंज, कछवा, हनुमाना, इलाहाबाद, वाराणसी भदोही में कई घटनाओ को अंजाम दे चुके है।

पुलिस ने इनके पास से 480 ग्राम नशीला पाउडर, दो तमंचा, कारतूस, एक चाकू सहित नगदी 51 हजार रुपये नगद बरामद किया। जिसके बाद पुलिस ने पांचो आरोपीयों को जेल भेज दिया। बरामद करने वाली पुलिस टीम में प्रभारी निरीक्षक साजिद सिद्दीकी, उप निरीक्षक मनोज राय, जितेंद्र कुमार, योगेंद्र पांडे, कांस्टेबल सुरेंद्र प्रजापति और कृष्णा राय सामिल थे।