कोरोना से घबराए रीवा कलेक्टर, धारा 144 लागू, रैली जुलूस प्रतिबंधित शादी में शामिल होंगे मात्र...

रीवा: अर्से बाद वापस मिली 50 एकड़ जमीन, खोई जमीन तलाशने सतना पहुंचे कलेक्टर इलैया राजा व टीम

रीवा सतना

रीवा: अर्से बाद वापस मिली 50 एकड़ जमीन, खोई जमीन तलाशने सतना पहुंचे कलेटर इलैया राजा व टीम

रीवा : अर्से बाद लक्ष्मणबाग की खोयीजमीन वापस मिली 50 एकड़ जमीन मिल गई है। जमीन मिलने की जानकारी पर कलेक्टर रीवा इलैया राजा टी ने सतना जाकर गल्र्स डिग्री कालेज के पास स्थित संस्थान के राम जानकी मंदिर भूमि ओ चित्रकूट के प्रमोद वन स्थित संस्थान की भूमि का निरीक्षण किया। निरीक्षण दौरान सतना कलेक्टर अजय कटेसरिया भी साथ-साथ मौजूद रहे।

मध्यप्रदेश: 9th और 12th के छात्रों के लिए खुशखबरी, अंतरिम मूल्यांकन होगा

सतना कलेक्टर ने दो दिन पूर्व ही सतना के अमरपाटन अनुभाग में स्थित लगभग लक्ष्मण बाग संस्थान की 50 एकड़ की जमीन जिसके राजस्व दस्तावेजों में हेरफेर कर निजी लोगों के नाम कर दी गई थी उन्हे बेदखल कर लक्ष्मण बाग संस्थान के नाम किए जाने काआदेश दिया है। इस आदेश के बाद कलेक्टर रीवा व लक्ष्मण बाग संस्थान के प्रशासक इलैया राजा टी ने सतना में स्थित संस्थान की अन्य भूमियों की तलाश की।

गौरतलब है कि रीवा के लक्ष्मण बाग संस्थान में रीवा में सैकड़ों एकड़ भूमि व मंदिर तो है ही प्रदेश के अन्य जिलों के साथ ही देश के अलग-अलग राज्यों में हैं। प्रदेश में 54 और अन्य राज्यों में 19 कुल 73 मंदिर हैं। पहले तो सब ठीक ठाक था लेकिन कुछ समय बाद कुछ अधिकारियों की लापरवाही के कारण संस्थान की बेशकीमती भूमियों पर अतिक्रमण के साथ ही राजस्व रिकार्डों में भी हेरफेर कर कर दिया। रविवार को कलेक्टर के अलावा लक्ष्मण बाग ट्रस्ट सीईओ अनिल दुबे एवं रिटायर्ड डिप्टी कलेक्टर योगेंद्र द्विवेदी के अलावा लक्ष्मण बाग के पुजारी एसपी शुला मौजूद रहे । कलेक्टर इलैयाराज टी सतना कलेक्टर के साथ गल्र्स डिग्री कालेज के पास स्थित रामजानकी मंदिर पहुंचे।

जबलपुर: कोविड 19 का मरीज तीसरी मंज़िल से छलांग लगा रहा था, अस्पताल कर्मचारियों की सूझ-बूझ से बचाया गया

बताया गया कि रामजानकी मंदिर भी लक्ष्मण बाग की ही सम्पति  है। इसमें कुछ भूमि शासकीय थी जिसे कालेज के लिए दिया गया है। सतना प्रशासन अब सीमांकन कर तय करेगा कि कितनी मंदिर भूमि कितनी है। इसके बाद कलेक्टर टीम के साथ चित्रकूट के प्रमोद वन पहुंचे से जुड़ी भू सम्पतियो का जायजा लिया। सीईओ अनिल दुबे ने बताया कि प्रमोद में कुछ भवनों में लोग किराए से रह रहे हैं। कुछ भाग में लोग झोपड़ी बनाकर अतिक्रमण किया है जिसे जल्द ही खाली कराया जायेगा।

मध्यप्रदेश: कांग्रेस को बड़ा झटका, दो दिन में भाजपा में शामिल हुए 35 हजार कांग्रेस कार्यकर्त्ता

[signoff]