रीवा : महंगे शौक और हाईप्रोफाइल लाइफ स्टाइल के लिए युवक बन गये ये…

रीवा

रीवा. पुलिस द्वारा पकड़े गये गांजा तस्करों से शनिवार की रात घंटो पूछताछ चली। गांजा तस्करी में शामिल अन्य आरोपियों के बारे में जानकारी ली जिसमें करीब दर्जन भर लोगों के नाम सामने आये हैं। समान पुलिस ने दो फोरव्हीलर गाडिय़ों में गांजा बरामद किया था। पांच आरोपियों को गिरफ्तार कर उनके कब्जे से 1.10 क्विंटल गांजा बरामद हुआ था। आरोपियों को रिमांड में लेकर थाने में पुलिस पूछताछ कर रही है। पकड़े गये आरोपियों की संपत्ति देखकर खुद पुलिस के होश उड़े हुए हैं। एक आरोपी राहुल मिश्रा के पास से एसएच 4 गाड़ी मिली है। इस गाड़ी में प्रदेश पुलिस के मुखिया चलते है। पकड़े गये आरोपियों ने गांजा तस्करी से जुड़े दर्जन भर लोगों की जानकारियां पुलिस को दी है जो उड़ीसा से माल मंगवाकर यहां बिक्री करते हैं।

उड़ीसा से लाते हैं गांजा की खेप
आरोपी रुपये लेकर उड़ीसा जाते है जहां गांजा तस्करों के ऐजेन्ट से मिलकर गांजा खरीदते हैं। वहां पूरा भुगतान नगद में किया जाता है। पकड़े गये आरोपी दो से तीन साल से यह कारोबार कर रहे हैं। हालांकि ज्यादातर तस्कर पहली बार ही पकड़े गये हंै। हैरानी की बात तो यह है कि इतने सालों से यह अपना नेटवर्क चला रहे थे लेकिन पुलिस को इनकी भनक तक नहीं लग पाई। गांजा तस्करी में सामने आये आरोपियों की तलाश में पुलिस ने शनिवार की रात कई स्थानों में दबिश दी। हालांकि इनकी गिरफ्तारी के बाद सभी तस्कर भूमिगत हो गये हैं। उनकी गिरफ्तारी के बाद ही पूरा नेटवर्क सामने आ पायेगा। आरोपी महंगे शौख और हाईप्रोफाइल जीवन गुजारने के लिए गांजा तस्करी के नेटवर्क में आये थे। रातोंरात लखपति बनने की चाहत में आरोपी शहर के गांजा तस्कर बन गये। कई आरोपियों ने गांजा तस्करी से अच्छी खासी संपत्ति तैयार कर ली है। पकड़े गये सभी आरोपी सामान्य घरों से हैं। गांजा तस्करी करके आरोपियों द्वारा तैयार की गई संपत्ति की जानकारी जुटाकर पुलिस उसे जब्त करने की तैयारी कर रही है।

30 प्रतिशत में किया था सौदा
गांजा तस्करी का मुख्य सरगना परशुराम शुक्ला निवासी खैरा थाना गढ़ है। इसी ने गांजा की खेप मंगवाई थी। आरोपी एफफिल का छात्र है और पढ़ाई के साथ गांजा तस्करी भी कर रहा है। तस्करी में उसका भाई शशिभूषण शुक्ला भी शामिल है। दोनों भाई मिलकर गांजा तस्करी करते हैं। आरोपियों ने नीरज विश्वकर्मा उर्फ बाबू 21 वर्ष निवासी जुड़वानी थाना सेमरिया, राहुल उर्फ संजीव मिश्रा 24 निवासी चौरा थाना चोरहटा, अभिनय उर्फ गोलू पांडेय 22 वर्ष निवासी चुरहट को तीस प्रतिशत कमीशन का वायद किया था। उनको अपनी गाड़ी से गांजा सुरक्षित रीवा लाना था।

बेरोजगार युवक बन रहे गांजा तस्कर
गांजा तस्करी के सरगना बेरोजगार युवकों को टारगेट कर रहे हैं। उनको एक बार गांजा लाने के एवज में दस हजार रुपये व रास्ते के खर्चे के लिए अलग से रुपये देते है। वे ऐसे लोगों को टारगेट करते हैं जो बेरोजगार घूम रहे हैं। उनको रुपयों का झांसा देकर आरोपी आसानी से फंसा लेते हैं।