रीवा / नावार्ड के सहयोग से शुरू होगा लघु दुग्ध उत्पादन केंद्र, 5 सैकड़ा किसानों को मिलेगा मौक़ा

रीवा / नावार्ड के सहयोग से शुरू होगा लघु दुग्ध उत्पादन केंद्र, 5 सैकड़ा किसानों को मिलेगा मौक़ा

रीवा

रीवा. राज्य सरकार जिले में दुग्ध उत्पादन के लिए 3 लाख तक क्रेडिट बढ़ाने जा रही है. रीवा मे नावार्ड के सहयोग से पशु चिकित्सा एवं पशु पालन विभाग 5 सैकड़ा किसानों को लघु दुग्ध उत्पादन केंद्र शुरू कराएगा. लॉकडाउन से राहत देने के लिए दुग्ध उत्पादक किसानों के अल्प अवधि के लिए क्रेडिट कार्ड भी उपलब्ध कराए जाएंगे. विभाग ने इसके ब्लू प्रिंट तैयार कर लिए हैं.

ब्याज में 3 फीसदी तक छूट, 31 जुलाई तक चलेगा विशेष अभियान

रीवा जिले में दुग्ध उत्पादक किसानों को किसान क्रेडिट कार्ड के लिए 31 जुलाई तक विशेष अभियान चलेगा. इसका मुख्य उद्देश्य उनकी कार्यशील पूंजी, मार्केटिंग आदि की आवश्यकताओं की पूर्ति करना है.

कोरोना / कलेक्टर ने अटरिया तथा रीवा शहर के वार्ड 30 को कंटेनमेंट क्षेत्र घोषित किया

क्रेडिट कार्ड धारक किसानों को दो प्रतिशत ब्याज की छूट एवं समय पर भुगतान करने पर 3 प्रतिशत ब्याज की अतिरिक्त छूट प्राप्त होगी. इस योजना में प्रदेश के बाहर से आए श्रमिक परिवारों को भी जोडऩे की तैयारी की गई है.

दुग्ध समितियों को तीन लाख रुपए तक छूट

पशु चिकित्सा विभाग के संयुक्त संचालक ने बताया कि ऐसे समस्त किसानों को क्रेडिट कार्ड प्रदाय किए जायेंगे जो दुग्ध सहकारी समितियों के सदस्य हैं और उनके पास किसान क्रेडिट कार्ड नहीं है. यदि दुग्ध उत्पादक किसानों के पास भूमि स्वामी होने के कारण किसान क्रेडिट कार्ड हैं तो वे अपनी लिमिट बढ़वा सकते हैं. लेकिन ब्याज पर छूट तीन लाख रुपए की सीमा तक ही रहेगी.

REWA के आरक्षक ने छुट्टी के लिए लिखा पत्र, भैंस का दूध पीते आए, अब उसका कर्ज अदा करना है’

1.60 लाख रुपए तक बढ़ाएंगे क्रेडिट

पशु चिकित्सा विभाग के संयुक्त संचालक ने बताया कि किसान क्रेडिट कार्ड के अंतर्गत एक लाख 60 हजार रुपए की सीमा तक की राशि बिना गारंटी के ली जा सकती है. दुग्ध उत्पादक किसानों के द्वारा दुग्ध संघों को सीधा दुग्ध प्रदाय करने पर यह सीमा बिना गारंटी के तीन लाख रुपए तक होगी.

तीन लाख तक क्रेडिट लिमिट

संयुक्त संचालक के मुताबिक दुग्ध संघ द्वारा निर्धारित आवेदन पत्र दुग्ध उत्पादक किसानों को प्रदाय किया जाएगा. यदि किसान सहमत हो तो दुग्ध संघ सहकारी समिति के द्वारा एक त्रिपक्षीय अनुबंध बैंक एवं किसान के साथ किसान क्रेडिट कार्ड के बकाया को बैंक भुगतान करने के लिए किया जा सकेगा. अनुबंध निष्पादित किए जाने की दशा में बगैर जमानतदार के क्रेडिट लिमिट तीन लाख रुपए तक रहेगी.

रीवा में कोरोना ब्लास्ट / 48 घंटे के अंदर 8 नए संक्रमित मिलें, आंकड़ा आधा सैकड़ा पार

जिले में नावार्ड के सहयोग से लगभग 500 किसानों को दुग्ध उत्पादन के लिए योजनाओं के तहत ऋण दिया जाएगा. जिसमें सब्सिडी भी दी जाएगी. 40-50 बकारी पालन भी कराया जाएगा. दुग्ध उत्पादन बढ़ाने के लिए किसानों की क्रेडिट कार्ड लिमिट बढ़ाए जाने का अभियान चल रहा है. – राजेश मिश्रा, संयुक्त संचालक, पशु चिकित्सा विभाग

ख़बरों की अपडेट्स पाने के लिए हमसे सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर भी जुड़ें:  

FacebookTwitterWhatsAppTelegramGoogle NewsInstagram

Facebook Comments
Tagged