रीवा में दिनदहाड़े चाकू से पेट एवं गले में वार कर युवती की हत्या

रीवा में दिनदहाड़े चाकू से पेट एवं गले में वार कर युवती की हत्या

क्राइम रीवा

रीवा। रीवा जिले में मनिकवार बस्ती के बीच किराए के मकान में रह रही युवती का शव मिलने के बाद क्षेत्र में सनसनी फैल गई। परिजनों ने घटना की जानकारी चौकी प्रभारी को दी तो चौकी प्रभारी मौके पर पहुंचीं और एफएसएल टीम को बुलाया। घटनास्थल पर लहूलुहान युवती का शव पड़ा था, जिसके पेट और गले में चाकू से हमला किया गया था। पुलिस ने पंचनामा कार्यवाही कर शव का पोस्टमार्टम कराया है और परिजनों को सौंप दिया है। मामला मनगवां थाना क्षेत्र के मनिकवार बस्ती का बताया जाता है।

मिली जानकारी के अनुसार सुधा वर्मा पिता सुदर्शन वर्मा निवासी मनिकवार घर -घर जाकर चूड़ी बिंदी बेचने का काम करती थी और जिस घर में शव मिला है वहीं सामान रखकर रात्रि अपने माता-पिता के घर चली जाती थी। शनिवार को शाम जब वह घर वापस नहीं पहुंची तो परिजनों ने तलाश शुरू की। इसी दौरान गांव के विकास सिंह के किराए के मकान में जहां वह सामान रखती थी उसी के पीछे वाले हिस्से में उसका शव मिला।

रीवा में 3 नए कोरोना पॉजिटिव मरीज मिलें, 15 पहुंचा आंकड़ा, 14 एक्टिव केस

बताया जाता है कि मृतिका सुधा वर्मा पिता सुदर्शन वर्मा निवासी मनिकवार का विवाह पहले कटनी जिले के बरही में हुआ था, लेकिन कुछ समय बाद पति ने छोड़ दिया था। जिसका 10 वर्ष का बच्चा है। युवती बच्चे के साथ मायके में रह रही थी। फिर कुछ समय बाद मैहर मंदिर में उसने दूसरे युवक से दूसरी शादी कर ली थी। दूसरे पति के साथ कुछ समय तक रही, इसके बाद पुन: उसको भी छोड़कर अपने माता-पिता के घर मनिकवार में रहने लगी और गांव गांव जाकर चूड़ी बिंदी का व्यापार करने लगी।

गांव की दबंग युवती के साथ देखी गई थी आखिरी बार

परिजनों की मानें तो गांव की ही एक दबंग युवती और उसकी बहन के साथ शाम को सुधा घूमते देखी गई थी। इसके बाद उसका कहीं पता नहीं चला था। परिजनों द्वारा दी गई जानकारी के बाद मनिकवार चौकी प्रभारी सुप्रिया जैन ने उक्त युवती सुमन वर्मा और उसकी बहन को पूछताछ के लिए थाना बुलाया है। बताया जाता है कि उक्त युवती अक्सर विवादों में रहती है, जिसके चलते परिजनों ने उस पर शंका व्यक्त की है।

नहीं रहें देव प्रभाकर शास्त्री ‘दद्दाजी’, विंध्य-महाकौशल में शोक की लहर

मकान भी संदेह के दायरे में

बताया जाता है कि युवती अपने मायके में रह रही थी। सिर्फ अपना रोजगार का सामान रखने विकास सिंह के घर का उपयोग कर रही थी। शनिवार को उसी घर में शव बरामद हुआ। पुलिस हत्या के कई बिंदुओं पर जांच कर रही है। माना जा रहा है कि हो सकता है युवती अपने घर सामान रखने आई हो और कोई व्यक्ति पीछा कर घर में घुस आया हो और किसी बात को लेकर विवाद होने पर साक्ष्य छुपाने के लिए युवती की हत्या कर दी हो। चोरी लूट की वजह से भी हत्या किए जाने की आशंका है।

एफएसएल टीम ने जुटाए साक्ष्य

युवती का घर में शव मिलने के बाद एफएसएल टीम को सूचना दी गई थी। मौके पर पहुंचे एफएसएल टीम के वरिष्ठ वैज्ञानिक डॉ आरपी शुक्ला ने शव का निरीक्षण कर सूक्ष्म साक्ष्य जुटाए हैं । जिनके आधार पर पुलिस हत्यारों तक पहुंचने का प्रयास कर रही है। एफएसएल टीम को धारदार हथियार से गले और पीठ में मारने के निशान मिले हैं। जिसके आधार पर प्रथम दृष्टया युवती की चाकू से गोद कर हत्या करना माना जा रहा है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद स्पष्ट हो जाएगा कि युवती की किन परिस्थितियों में हत्या की गई है।

ख़बरों की अपडेट्स पाने के लिए हमसे सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर भी जुड़ें: 

Facebook Comments