रीवा : छापे की कार्रवाई लीक, शुक्ला परिवार बेनामी संपत्ति के मुख्य दस्तावेज लेकर फरार

रीवा

भोपाल | आय से अधिक संपत्ति के मामले में लोकायुक्त पुलिस ने शनिवार को मंडला में पदस्थ आदिवासी विकास के असिस्टेंट कमिश्नर संतोष शुक्ला के ठिकानों पर छापा मारा। छापे की कार्रवाई लीक होने से शुक्ला परिवार और बेनामी संपत्ति के दस्तावेजों के साथ लापता हो गए। टीम ने भोपाल के वैशाली नगर स्थित उनके घर के अलावा इंदौर, रीवा, रीवा के पुरवा गांव और मंडला में उनके ठिकानों पर छापे मारे। उनके घर से कितनी आय से अधिक संपत्ति मिली फिलहाल इसका खुलासा नहीं हो सका। इंदौर और भोपाल में टीम की कार्रवाई जारी है।

संतोष शुक्ला के खिलाफ आय से अधिक संपत्ति की शिकायत मिलने के बाद लोकायुक्त जबलपुर की टीम ने शनिवार को मंडला में पदस्थ असिस्टेंट कमिश्नर संतोष शुक्ला के रीवा स्थित घर, मंडला में शासकीय आवास व कार्यालय के साथ राजधानी के वैशाली नगर और इंदौर स्थित घर में छापा मारा। लोकायुक्त टीम अनुसार छापे में लगभग छह करोड़ की आय से अधिक संपत्ति मिली है। संतोष शुक्ला मूल रूप से रीवा के रहने वाले हैं। रीवा में शनिवार तड़के चार बजे छापामारी उस समय की गई जब उनके परिवार के लोग गहरी नींद में सो रहे थे। यहां तीन करोड़ से ज्यादा की संपत्ति सामने आई है। वैशाली नगर के मकान नंबर 62 में लोकायुक्त की टीम ने सागौन के बेशकीमती फर्नीचर, कार और दोपहिया वाहन समेत करीब 20 लाख की सामग्री मिली है। वैशाली नगर में शुक्ला की प|ी व बेटा रहता है। हालांकि छापे के दौरान दोनों ही घर में नहीं थे। इंदौर में भी एक मकान की सूचना मिली है। अब तक इनकी संपत्ति का आकलन नहीं हो सका है।

ताला खोलने वाले को बुलाया : शांति बिहार कॉलोनी स्थित आवास में छापामारी के दौरान टीम को कई आलमारियों की चाभी उपलब्ध नहीं हो पाई। ताला-चाभी खोलने वाले को बुलाकर तीन आलमारी की डुप्लीकेट चाभी बनवाई गई। लोकायुक्त की टीम ने यहां से शांति बिहार कॉलोनी के फ्लैट और प्लॉट से संबंधित दस्तावेज जब्त किए हैं। मंडला में भी लोकायुक्त टीम ने शनिवार सुबह 6 बजे से दोपहर तक दस्तावेज खंगाले। शासकीय आवास के दो कमरों को सील कर दिया गया। कार्यालय में भी तलाशी ली गई। शासकीय आवास में लोकायुक्त की टीम को कुछ नहीं मिला। इसके बाद तिलक वार्ड स्थित सहायक आयुक्त कार्यालय में जांच-पड़ताल की गई।