Summer vacation in private and government schools in MP from this month!

रीवा में बिना अनुमति गवर्नमेंट स्कूल-2 के प्राचार्य ने लगा दी क्लास

रीवा

रीवा में बिना अनुमति गवर्नमेंट स्कूल-2 के प्राचार्य ने लगा दी क्लास

रीवा। गवर्नमेंट स्कूल क्रमांक दो के प्रभारी प्राचार्य की बड़ी लापरवाही सामने आई है। प्राचार्य ने बिना अनुमति स्कूल खोल दी और शिक्षकों को भी तलब होने का फरमान जारी कर दिया। इस दौरान सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं किया गया। इतना ही नहीं गलत तरीके से स्कूल खोलने और शिक्षकों को बुलाने की जानकारी तक वरिष्ठ अधिकारियों को नहीं दी गई।

REWA से चलने वाली TRAIN को लेकर आई बड़ी खबर, बुक हुई टिकट..

प्राचार्य की एक लापरवाही कई शिक्षक और उनके परिजन पर भारी पड़ सकती है। ज्ञात हो कि पूरा देश लॉकडाउन है। रीवा में भी स्थिति बेहतर नहीं है। वर्तमान में दो कोरोना पॉजिटिव मरीज संजय गांधी अस्पताल में हैं। ऐसे में हालात रीवा के और गंभीर हो जाते हैं।

लॉकडाउन में सभी को घरों में ही रहने के निर्देश हैं। जो कार्यालय खुल रहे हैं, वहां भी कर्मचारियों की संया 25 फीसदी कर दी गई है। जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय सहित अन्य बंद है। इसके बाद भी गवर्नमेंट स्कूल क्रमांक दो धोबिया टंकी के प्राचार्य ने बिना अनुमति स्कूल खोल दी। सभी शिक्षकों को एक साथ ही स्कूल भी तलब कर लिया। प्रशासन और पुलिस की आंख में धूल झोंकने के लिए सुबह 7.30 बजे स्कूल पहुंचने का फरमान जारी किया।

सौगात : राशन फ्री देने के बाद CM SHIVRAJ देंगे 1 करोड़ परिवार को ये फ्री….

सोमवार को प्राचार्य के आदेश पर शिक्षक भी पहुंच गए। उन्हें घरों पर ही बैठकर पढ़ाने के निर्देश थे, लेकिन प्राचार्य ने सभी को स्कूल ही तलब कर लिया। प्राचार्य की लापरवाही कईयों के सेहत पर भारी पड़ सकती है। इतना ही नहीं इस दौरान यदि पुलिस की पकड़ में आते तो कईयों को जेल की हवा भी खानी पड़ती।

बेलगाम हो गए हैं

प्राचार्य बेलगाम हो गए हैं। इन पर अधिकारियों की सती नजर नहीं आती है। यही वजह है कि प्रभारी के रूप में पदस्थ रहने के बाद भी ऐसी गलतियां दोहरा रहे हैं। गवर्नमेंट स्कूल 2 के प्राचार्य तो सिर्फ एक नमूना है। ऐसे कई प्राचार्य है, जिन पर जिला शिक्षा अधिकारी और प्रशासन का कंट्रोल नहीं है। बिना अधिकारियों की अनुमति के ही कुछ भी करते रहते हैं।

Facebook Comments