MP: School की फीस को लेकर High Court का बड़ा फैसला, तुरंत पढ़िए

दोनों कोरोना पॉजिटिव कैदियों को सतना से रीवा लाने का मामला पंहुचा कोर्ट, पढ़िए

मध्यप्रदेश रीवा सतना

दोनों कोरोना पॉजिटिव कैदियों को सतना से रीवा लाने का मामला पंहुचा कोर्ट, पढ़िए

मध्यप्रदेश में कोरोना संक्रमण के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं। बढ़ते संक्रमण के बीच अब मध्यप्रदेश के दो जिले एक दूसरे के खिलाफ आरोप लगा रहे हैं। सतना जिले की आम जनता इंदौर के अधिकारियों पर आरोप लगा रही है कि हमारे जिले में कोरोना वायरस फैला रहे हैं। दरअसल, मध्यप्रदेश में प्रशासन की एक लापरवाही सामने आई है। इंदौर में अफसरों की सूझबूछ की कमी के कारण विंध्य में भी कोरोना वायरस ने दस्तक दे दी है। इंदौर में डॉक्टरों पर पत्थरबाजी करने वाले कैदियों पर रासुका लगाने के बाद सतना जेल भेजा गया।

रीवा से दोनों कोरोना मरीजों को शिफ्ट करने की तैयारी, इस अस्पताल में…

 

रिपोर्ट आई कोरोना पॉजिटिव
इन कैदियों के सतना पहुंचने पर आशंका ती कि कहीं ये कोरोना की चेपट में तो नहीं हैं। लेकिन रविवार को जब इनकी रिपोर्ट पॉजिटव आई तो सतना जिले में विरोध के स्वर फूटने लगे। जिसके बाद दोनों आरोपियों को रीवा के संजय गांधी मेडिकल कॉलेज इलाज के लिए भेज दिया गया। वहीं, जो लोग इन कैदियों के संपर्क में आए हैं उन्हें भी क्वारेंटाइन में भेज दिया गया है।

संक्रमित कैदियों को SATNA और REWA लाने पर भड़के EX CM KAMALNATH

आम लोगों में गुस्सा
सतना में पॉजिटिव केस आने के बाद आम लोगों का गुस्सा इंदौर जिला प्रशासन पर फूट पड़ा। आमजन हो या नेता सभी ने विरोध किया है यहां तक की कलेक्टर ने भी कैदियों को सतना भेजने के निर्णय पर नाराजगी जताई है। वही सतना से रीवा भेजने पर भी रीवा की जनता सड़क पर उतर आई है  सोशल मीडिया में भी भारी विरोध हो रहा है इस तरह जल्द ही शिवराज सरकार को कोई फैसला लेना होगा नहीं आम लोगो का गुस्सा काफी हद तक बढ़ जायेगा \

SATNA से REWA लाए गए 2 CORONA कैदियों को लेकर पूर्व मंत्री राजेंद्र शुक्ल का बड़ा बयान, पढ़िए

याचिका भी लगाई गई
कोरोना पॉजीटिव कैदी को बाहर शिफ्ट करने के मामले में शाम 4 बजे जिला न्यायालय में होगी सुनवाई। स्टेट बार काउंसिल के अध्यक्ष ने इस मामले में याचिका दायर की है। सुप्रीम कोर्ट के नियमों की अवमानना को लेकर और इंदौर व सतना कलेक्टर के ऊपर हत्या का प्रयास का मामला दर्ज करने के लिए याचिका लगाई गई है।

बड़ा सवाल ये भी?
कौदियों की रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद कैदियों को सतना से ऱीवा भेजा गया है। ऐसे में सवाल उठ रहा है कि क्या सतना जिले में कोरोना संक्रमित लोगों के इलाज के लिए कोई व्यवस्था नहीं की गई है जिस कारण से कैदियों को ऐसे जिले में इलाज के लिए भेजा गया है जिस जिले में कोरोना संक्रमण का कोई मामला नहीं है।

Facebook Comments