रीवा के शाही किले में खून बहाकर करोड़ों का सामान लूटने वालो को लेकर आये नया मोड़

रीवा

रीवा. मध्य प्रदेश के सबसे अमीर राजघरानों में से एक रीवा राजघराने के बहुचर्चित किला डकैती कांड के आरोपी को उत्तर प्रदेश से पुलिस रिमांड पर लेकर आई है। आरोपी से घटना के संबंध में पूछताछ की जा रही है। वर्ष 2012 में किला परिसर के शाही म्यूजियम में घुसकर डकैतों ने चौकीदार कमला प्रसाद की तलवार से हत्या कर दी थी। इस घटना से पूरे प्रदेश में हडक़ंप मच गया था।

बदमाश किला से ऐतिहासिक पेन पिस्टल सहित बेशकीमती धरोहर लूटकर चंपत हो गए थे। उत्तर प्रदेश के कन्नौज की पुलिस ने एक मुठभेड़ के दौरान इस सनसनीखेज घटना के मुख्य आरोपी को पहले ही दबोच लिया था। सरगना कुंवरपाल बंजारा निवासी रामनगर, फहीम और राजा उर्फ अनस को पुलिस ने पकड़ा था। आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया था जिनके कब्जे से लूटा गया माल बरामद हो गया था। पूछताछ में डकैतों ने जुर्म स्वीकार कर लिया था। उनकी निशानदेही पर पुलिस टीम ने रीवा किले में डकैती के दौरान लूटे गए शाही खंजर और एंटिक मूर्तियां, कीमती छत्र बरामद कर लिए थे।

सरगना का भाई अब आया पकड़ में

डकैती कांड में मुख्य आरोपी कुंवर पाल बंजारा का भाई चिन्ना बंजारा निवासी उन्नाव फरार था। उक्त आरोपी उन्नाव पुलिस ने गिरफ्तार किया था जिसकी सूचना रीवा पुलिस को दी थी। सिटी कोतवाली पुलिस ने उक्त आरोपी रिमांड में लेने के लिए आवेदन लगाया था जिस पर आरोपी पांच दिन की रिमांड में रीवा आया है। उससे पुलिस उक्त हत्याकांड के संबंध में पूछताछ कर रही है। पुलिस उससे लूटे गए शेष माल बरामद करने का प्रयास कर रही है। आरोपी अपने भाई के साथ ही रीवा आया था और वारदात के बाद लूटा गया माल लेकर मौके से फरार हो गया था।

चन्दन की लकड़ी के बाद मंदिरों में करने लगे चोरी

पुलिस हिरासत में कुंवरपाल ने बताया कि फरारी के दौरान वह अपने अन्य साथियों के साथ राजस्थान व मध्यप्रदेश से चन्दन की लकड़ी चुराकर बेचने का कार्य करने के साथ ही मंदिरों में चोरी करने लगा। हाल ही में उसने साथियों के साथ कन्नौज के कई मंदिरों में वारदात को अंजाम दिया था।