रीवा: पैसे लूटने फ्लाईओवर के नीचे सो रही विक्षिप्त महिला भिक्षुक का सर फोड़कर कर दी हत्या

रीवा

रीवा। रीवा जिला किस ओर जा रहा है, यह एक भिक्षुक महिला की हत्या से ही साबित हो रहा है, महज चंद पैसे लूटने के लिए महिला भिक्षुक की हत्या कर दी गई। कहते हैं, अपराधियों का कोई धर्म या जाति नहीं होती। लेकिन अब ऐसा लगता है कि अपराधियों में मानवता भी नहीं होती। रीवा के अपराधियों ने शनिवार रात एक ऐसी घटना को अंजाम दिया, जिसमें मानवता तार-तार हो गई। एक विक्षिप्त महिला जो भिक्षा मांग कर अपना पेट पाल रही थी, उसकी निर्मम हत्या कर दी गई और दिनभर लोगों से मांगकर जुटाए गए चंद रुपए बदमाश लूट ले गए। यहां अमानवीय पहलू यह है कि यदि बदमाशों में रुपये की लालच थी तो वह छीन लेते, उस भिखारिन की जान लेने की या जरूरत थी।

यह रूह कंपा देने वाली हृदयविदारक घटना शहर के सिविल लाइन थाना क्षेत्र सिरमौर चौराहा स्थित लाईओवर के नीचे हुई, जहां रात गुजार रही महिला के सिर पर अज्ञात बदमाशों ने पत्थर पटककर उसकी हत्या कर दी और झोले में रखे रुपए लेकर फरार हो गए। रविवार सुबह पत्थर से कुचला हुआ लहूलुहान हालत में महिला का शव देखकर स्थानीय लोगों में हड़कंप मच गया। सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची पुलिस ने घटनास्थल का निरीक्षण कर शव को कजे में लेकर पीएम के लिये अस्पताल भेज दिया। मृतका की शिनात होने के उपरांत शव का पीएम कराकर परिजनों के सुपुर्द कर दिया गया है।

मिली जानकारी के मुताबिक रविवार सुबह लाईओवर के नीचे अज्ञात महिला का खून से सना हुआ शव देखा गया। स्थानीय लोगों की सूचना पर पहुंची पुलिस ने आसपास रहने वाले लोगों की मदद से मृतिका की पहचान नईगढ़ी थाना के ग्राम हर्दी तिवरियान निवासी देवकी चतुर्वेदी पति मुद्रिका चतुर्वेदी 50 वर्ष के रूप में की गई। बताया गया कि महिला मानसिक रोग से ग्रसित थी और शहर में घूम घूमकर भिक्षावृति करती थी। रोजाना की तरह शनिवार को भी महिला घूमफिरकर अपने ठिकाने में आकर सो गई थी। देर रात अज्ञात व्यक्ति ने सोते समय महिला के सिर पर पत्थर पटक दिया, जिससे उसकी मौत हो गई। पुलिस ने मामले में मर्ग कायम कर विवेचना शुरू कर दी है।

लूट के इरादे से की गई हत्या :

पुलिस द्वारा मौका मुआयना के बाद माना जा रहा है कि किसी व्यक्ति ने लूट के इरादे से हत्या की इस सनसनीखेज वारदात को अंजाम दिया है। बताया गया कि महिला के पास जो झोला हुआ करता था वह गायब था और महिला के ठिकाने पर रखा हुआ सामान भी बिखरा पड़ा था। बताया गया कि महिला भिक्षावृत्ति कर मिलने वाले पैसों को झोले में रखती थी। घटनास्थल की परिस्थितियों को देखते हुये माना जा रहा है कि लूट करने के इरादे से ही हत्या की वारदात को अंजाम दिया गया है।