रीवा: सरकारी वाहन में मिली ऐसी सामग्री, जानकार होश उड़ जाएंगे, विधायक तक बैठ गए धरने में…

रीवा

बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने किया प्रदर्शन, सात घंटे यार्ड में नहीं डालने दिया कचरा, महापौर से फोन में चर्चा के बाद माने

रीवा । नगर निगम के ट्रैक्टर में मांस मिलने पर जमकर हंगामा हुआ। बजरंग दल के कार्यकर्ता गौ मांस होने की बात कहते हुए सुबह से मानस भवन के सामने कचरा डंपिग यार्ड के सामने प्रदर्शन करने लगे। इस दौरान शहर से कचरा लेकर आने वाहनों को सात घंटे तक यार्ड के सामने रोके रखा। मौके पर पहुंचे तहसीलदार ने कार्यकर्ताओं की महापौर से फोन पर बात कराई। इसके बाद दोपहर 1.30 बजे कार्यकर्ताओं ने धरना समाप्त किया। कचरा वाहन रोकने से शहर में कचरा कलेक्शन की व्यवस्था गड़बड़ा गई।

कोष्ठा के पास नगर निगम के वाहन में दो बोरी मांस मिला था। इसकी जानकारी लगते ही कांग्रेस विधायक सुंदरलाल तिवारी सिविल लाइन थाने के सामने धरने पर बैठ गए थे। शनिवार सुबह बजरंग दल के कार्यकताओं ने दोषी अधिकारियों पर कार्रवाई की मांग को लेकर प्रदर्शन किया। सुबह नगर निगम के अधिकारी पहुंचे तो उन्हें वापस कर दिया। दोपहर में तहसीलदार ने पहुंचकर जांच कराने व महापौर से मिलने का आश्वासन देकर धरना खत्म कराया। इस दौरान जिला विद्यार्थी प्रमुख अम्बुज पांडेय, भोला तिवारी, नगर संयोजक, नितेश दाहिया, सह संयोजक हरिओम तिवारी, भोला तिवारी, अजीत पांडेय, मृदुल कोल, रोहित सेन, प्रदीप गुप्ता उपस्थित रहे।

कोष्ठा में काटे जा रहे गौ वंश
बजरंग दल के कार्यकताओं ने आरोप लगाया कि शहर के कचरा कलेक्शन प्वाइंट कोष्ठा में बड़े स्तर पर गौ वंश काटकर नगर निगम के वाहन में परिवहन किया जा रहा है। नियमानुसार मृत गायों को नगर निगम को गड्डे खोदकर उसमें डालना है लेकिन इसके बावजूद चमड़ा और मांस निकालकर बेचा जा रहा है। इसमें नगर निगम के कर्मचारी शामिल हैं। मानस भवन स्थित यार्ड में कोई मानीटरिंग नहीं होने से गौवंश जहरीला अपशिष्ट पदार्थ खाकर मर रहे हैं।

अभ्यारण में भेजी जाएं गायें
शहर की सडक़ों पर घूम रही गायों को नगर निगम कर्मचारी अभ्यावरण व गौशाला में नहीं भेजकर आसपास के क्षेत्रों में छोड़ देते हैं। इससे जहां सडक़ दुर्घटना में लोगों और गांयों की मौत हो रही है वहीं आस-पास कृषकों की फसल नष्ट हो रही है। गौ अभ्यारण में लाखों का बजट मिल रहा है, इसके बावजूद गायों को नहीं भेजा जा रहा है।