रीवा: यहां कानून का कोई डर नहीं, सड़को पर नाबालिग बेलगाम दौड़ा रहे वाहन

मध्यप्रदेश रीवा

रीवा : ग्रामीण अंचलों में भी दोपहिया वाहन में फर्राटे मारते हुए नाबालिग सड़कों पर हर समय देखे जा रहे हैं। बावजूद इसके पुलिस ऐसे वाहन चालकों के खिलाफ कार्रवाई करने की बजाय मूकदर्शक बनी हुई है। हालांकि इन दिनों जवा थाने की पुलिस दोपहिया वाहनों की चैकिंग अभियान चला रही है। लेकिन नाबालिगों द्वारा चलाई जा रही दोपहिया वाहन पर पुलिस की कार्रवाई नहीं हो रही है और इसका फायदा उठाते हुए सड़कों पर वाहन दौड़ा रहे हैं। इस लापरवाही से न सिर्फ नाबालिग वाहन चालक बल्कि आम आदमी दुर्घटना का शिकार होकर अस्पताल पहुंच रहा है।

स्कूली बच्चों की संख्या अधिक
नाबालिग वाहन चालकों में जवा की स्कूली बच्चों की संख्या सर्वाधिक है। ये बच्चे स्कूलों में भी गाड़ियां लेकर जाते हैं और छुट्टी के समय अपने दोस्तों को बैठाकर वाहन दौड़ाते हुए निकलते हैं। इनके अभिभावक तो इन्हें स्कूल जाने के लिए वाहन उपलब्ध करवा ही रहे हैं साथ ही स्कूल प्रबंधन भी इन्हें वाहन लाने से मनाही नहीं कर रहा है। जबकि स्कूल प्रबंधन की जिम्मेदारी बनती है कि नियमों व कानूनों का पालन करने की सीख वे बच्चों को दें।

नियमों की करते हैं अवहेलना
नाबालिग वाहन चालक केवल वाहन चलाकर ही यातायात नियमों को नहीं तोड़ रहे हैं, बल्कि वाहन चलाते समय भी वे नियमों का उल्लंघन कर रहे हैं। बिना हेलमेट के बाइक चलाना, तीन सवारियों को बैठाकर बाइक चलाना, भीड़ भरे रास्तों व सड़कों पर भी तेज गति से वाहन चलाना उनकी आदत बन चुका है। जिससे हमेशा हादसों का डर बना रहता है।