रीवा में यहां पिकनिक मनाने जाने के पहले रहें सतर्क, बढ़ रहा है जलस्तर…4 सैलानियों की जा चुकी है जान

रीवा

रीवा। पुरवा फॉल में पिकनिक मनाने जाने वाले सैलानी शुक्रवार को सावधान रहें। वह यह न समझे कि रीवा में पानी नहीं गिर रहा है तो पुरवा फॉल में पानी कहां से आयेगा। अंजाने में हुई चूक जान पर बन सकती है। कारण यह कि बकिया बराज में अधिकतम भराव क्षमता के करीब वाटर लेवल पहुंच चुका है।

किसी भी समय बकिया बराज का गेट खुल सकता है और पुरवा फॉल में सैलाव आ सकता है। ज्ञात हो कि बकिया बराज की अधिकतम जल भराव क्षमता 280.50 मीटर है जिसमें आपदा प्रबंधन रीवा से मिली जानकारी अनुसार रात 8 बजे तक 277.10 मीटर पानी भर चुका है।

भोपाल आपदा प्रबंधन एसएमएस बेस्ड मानीटरिंग सिस्टम से प्राप्त जानकारी अनुसार मैहर में टमस डेंजर प्वाइंट से महज 6 मीटर नीचे बह रही है। ऐसी स्थिति में यह संभावना जताई जा रही है कि बकिया बराज रात में पूरा कर सकता है और सुरक्षात्मक दृष्टि से बराज के गेटों को खेला जा सकता है।

बता दें कि वर्ष 2015 में ऐसे ही हालात हुए हुए थे जिसमें 4 सैलानियों को अपनी जान गवानी पड़ी थी। उस घटना की दोबारा पुरावृत्त न हो इसके लिए प्रशासन के साथ ही सैलानियों को भी सतर्क रहना होगा। प्राप्त जानकारी अनुसार पिछले दिनों सतना (मैहर क्षेत्र) में चार घंटे तक झमाझम बारिश हुई जिस कारण से टमश उफान में आ गई है। चूंकि टमस का पानी बकिया बराज से होकर तराई(त्योंथर)से होकर बेलन नदी में मिलता है। पुरवा में पानी बढऩे से तराई में असर पड़ता है।

मिली जानकारी अनुसार रात आठ बजे तक मैहर में टमस नदी डेंजर प्वाइंट 323.90 से 6 मीटर नीचे 317.68 मीटर तक बह रही है। ऐसी परिस्थिति में बकिया बराज का वाटर लेवल बढऩा तय है। जिससे गेट खुलने की संभावनाएं बढ़ गई हैं। गेट खुलेगा तो पुरवा फॉल में सैलाव आना तय है।