रीवा-आनंद विहार ट्रेन में चढ़ते समय एक महिला फिसली, फिर हुआ ये

रीवा

रीवा। रीवा-आनंद विहार ट्रेन में बुधवार को चढ़ते समय एक महिला फिसल गई। आरपीएफ और यात्रियों की सजगता के कारण वह ट्रेन के नीचे आने से बाल-बाल बच्च गई। यात्रियों ने महिला को उठाकर बैठाया, इसके बाद ट्रेन रवाना हुई है। रीवा-आनंद विहार ट्रेन बुधवार को जैसे ही समय 4बजे हुआ प्लेटफार्म नंबर 2 से रवाना हुई। इसी दौरान प्लेट फार्म नंबर 1 से कूदकर महिला ट्रेन में चढऩे का प्रयास करने लगी, लेकिन ट्रैक गिला होने के कारण उसका पैर फिसल गया। महिला के गिरते ही वहां खड़े यात्रियों ने तत्काल हाथ पकडक़र बाहर निकाल लिया, वहीं आरपीएफ के जवानों ने वायरलेस से चालक से संपर्क कर ट्रेन रुकवा दी। इससे बड़ा हादसा टल गया। बताया जा रहा कि आए दिन लोग दौडक़र ट्रेन पकडऩे का प्रयास करते हैं, इसी दौरान हादसा हो जाता है।

प्लेटफार्म-2 में खड़ी थी ट्रेन
रीवा-आनंद विहार प्लेटफार्म-१ से रवाना होती है, लेकिन बुधवार को ट्रेन प्लेटफार्म-2 से रवाना हुई। इसकी जानकारी यात्रियों की नहीं होने के कारण ट्रेन दौडक़र पकडऩी पड़ी।

एससी में अटेंडर बढ़ाने का रेलवे लिया निर्णय
यदि यात्रा के दौरान आपका ट्रेन में शौचालय गंदा है तो यह समस्या भी अब दूर हो जाएगी। चलती ट्रेन में भी अब टॉयलेट की सफाई हो सकेगी। इतना ही नहीं एसी-२ में अब दो कोचों के लिए अलग- अलग अंटेडर उपलब्ध रहेंगे। यह व्यवस्था बनाने के लिए रेलवे ने अब नए ठेके में सफाई कामगारों की संख्या बढ़ा दी है। इससे रेलवे में नए लोगों को रोजगार के अवसर भी बढ़ेंगे। पश्चिम मध्य रेलवे की ट्रेन में यात्रा के दौरान अधिकांशत: टॉयलेट गंदा होने की शिकायत यात्रियों द्वारा मिलती थी, और ट्रेन के प्लेटफार्म पहुंचने पर ही टॉयलेट की सफाई होती है। इससे यात्रियों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ता था। इसे लेकर अब रेलवे ने चलती ट्रेन में भी सफाई के लिए ठेकदारों को व्यवस्था बनाने के निर्देश दिए हैं।<