congress

रीवा : नाराज कांग्रेसी कार्यकर्ताओं ने कहा: जिन्हे संगठन की ABCD भी नहीं पता, वे ठोंक रहें टिकट की दावेदारी

मध्यप्रदेश रीवा

रीवा। कांग्रेस संगठनात्मक कसावट के साथ चुनावी तैयारियों में जुटी है। कार्यकर्ताओं से चर्चा करने और आगामी कार्यक्रम की गाइड लाइन तय करने के लिए संगठन के नए प्रभारी पूर्व मंत्री एनपी प्रजापति रीवा पहुंचे। जिले भर से ब्लाक, मंडलम और सेक्टर कमेटियों के पदाधिकारी पहुंचे। जिनसे कहा कि पोलिंग बूथ पर बेहतर काम करना है, इसके लिए कार्यकर्ताओं की टीम वहां पर सक्रिय होना चाहिए। इस दौरान कार्यकर्ताओं ने अपनी बात भी रखी, कार्यकर्ताओं ने उन नेताओं पर साफ़ तौर पर नाराजगी जाहिर की है, जिन्हे संगठन के बारे में कुछ भी नहीं पता परन्तु दावेदारी दिल्ली तक जाकर ठोंक रहें हैं।

भाजपा सरकार की योजनाओं का बखान करती है तो हमें किस तरह से उनका जवाब देना है इसकी भी कार्ययोजना तय की जाए। इस बार पूरी ताकत के साथ चुनाव लडऩा हैऔर जीतना है। कुछ महीने पहले बायोडाटा लेकर दावेदारी करने भोपाल गए और सोशल मीडिया में प्रमुख दावेदार के रूप में स्वयं को प्रदर्शित कर रहे नेताओं से कहा कि इससे काम नहीं चलेगा। फील्ड में जाएं और पार्टीको मजबूती देने का काम करें, साथ ही सरकार की खराब योजनाओं को जनता के सामने रखें।

सक्रियता दिखाने की जरूरत

कमेटियों के प्रभारियों से कहा कि वह कार्यकर्ताओं के साथ नियमित बैठकें करें और उनकी बातों को सुनते हुए संगठन में ऊपर तक बात पहुंचाएं। सरकार तीन बार से लगातार सत्ता में इसके विरोध में जनता है, इस वजह से सक्रियता दिखाने की जरूरत है। विधायक सुंदरलाल तिवारी ने कहा कि संगठन को मजबूती के साथ गांवों तक ले जाने की जरूरत है। जब तक पूरी ताकत के साथ संघर्षनहीं करेंगे सफलता नहीं मिलेगी। इस कारण यह मानकर चलना है कि हमारी सरकार बनेगी और हर प्रत्याशी को जिताएंगे। इस दौरान एआईसीसी पर्यवेक्षक मनोज त्रिवेदी, प्रदेश महासचिव डॉ. मुजीब खान, प्रदेश महिला कांग्रेस की कार्यवाहक अध्यक्ष कविता पाण्डेय, जिला अध्यक्ष त्रियुगीनारायण शुक्ला, गुरमीत सिंह मंगू, ग्रामीण कमेटी के कार्यवाहक अध्यक्ष रमाशंकर पटेल, गिरीश सिंह, शहर कमेटी के कार्यवाहक अध्यक्ष लखनलाल खंडेलवाल, मकसूद खान के साथ ही बिन्द्रा प्रसाद, रमाशंकर मिश्रा, बृजभूषण शुक्ला, राजेन्द्र शर्मा, समर्थ सिंह, विनोद शर्मा, संदीप पटेल, एसएस तिवारी, शिवप्रसाद प्रधान, अजय मिश्रा, कुंवर सिंह, अनुपम तिवारी, अर्चना द्विवेदी, केपी सिंह अन्य मौजूद रहे।

संगठन की जानकारी नहीं और कर रहे टिकट की दावेदारी

कार्यकर्ताओं ने उन नेताओं पर नाराजगी भी जाहिर की जो टिकट के लिए दावेदारी पेश कर रहे हैं। कहा कि दिल्ली तक नेता टिकट मांगने के लिए जा रहे हैं लेकिन क्षेत्र के संगठन के बारे में कोई जानकारी नहीं है। कार्यकर्ताओं से कभी संवाद नहीं करते। इस तरह की नाराजगी सबसे अधिक रीवा, सिरमौर, सेमरिया, देवतालाब और मनगवां के कार्यकर्ताओं ने रखी।

किसानों पर फोकस हो

पुराने कार्यकर्ताओं ने कहा कि वह भी किसान हैं और समस्याएं समझते हैं। पार्टी यदि किसानों पर फोकस करेगी तो अच्छी सफलता मिल सकती है। संगठन प्रभारी ने कहा, गांव और किसान फोकस में हैं। किसानों की जो भी समस्याएं हैं उन्हें लेकर प्रदर्शन अभी से शुरू किए जाएं