मृत समझकर अंतिम संस्कार कर दिया था, चार माह बाद अचानक घर आ पहुंचा, जानिए फिर क्या हुआ...

रीवा-आनंद विहार सुपरफास्ट ट्रेन को छोड़कर भागा इंजन

मध्यप्रदेश रीवा सतना

सतना। मुंबई-हावड़ा रेल खंड के सतना जंक्शन में शुक्रवार की दोपहर जहां आनंद बिहार से चलकर रीवा की ओर जाने वाली सुपर फास्ट का डीजल इंजन स्टेशन में ही यात्री गाड़ी को छोड़कर आगे बढ़ गया,वहीं इससे सुबह लगभग 9 बजे रीवा स्टेशन की एडी साइडिंग में खड़ा इंजन भी बगैर ड्राइवर के चल पड़ा। रीवा में इंजन के डीरेल की घटना पर जांच के आदेश दिए गए हैं। जांच के लिए पंाच सदस्यीय टीम बनाई गई है।

क्यों आई ये नौबत
प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि पहले से ही 2 घंटे विलंब से चल रही आनंद बिहार- रीवा सुपर फास्ट शुक्रवार को दोपहर सवा 12 बजे यहां प्लेटफार्म नंबर -एक पर पहुंची। दोपहर 12 बज कर 23 मिनट पर इस गाड़ी को रीवा ले जाने के लिए डीजल इंजन लगाया गया। सुपर फास्ट अभी कुछ ही कदम आगे बढ़ पाई थी कि इंजन शेष बोगियों को छोड़कर लगभग 50 मीटर आगे निकल गया। रेलवे के जानकार सूत्रों ने माना कि कपलिंग में तकनीकी गतिरोध के कारण ये नौबत आई। रीवा के लिए सुपर फास्ट गाड़ी 25 मिनट विलंब से भेजी जा सकी।

जनता समेत पिटीं 3 गाडिय़ां
आनंद बिहार से चलकर रीवा की ओर जाने वाली सुपर फास्ट को छोड़कर डीजल इंजन के भागने की इस घटना के कारण जहां पहले से ही 2 घंटे लेट चल रही ये यात्री गाड़ी यहां 25 मिनट और पिट गई, वहीं राजेन्द्रनगर पटना से मुंबई की ओर जा रही जनता एक्सप्रेस भी लगभग आधे घंटे तक आउटर पर ही खड़ी रह गई। जबकि गोङ्क्षदया – बरौनी एक्सप्रेस को प्लेट फार्म नंबर -2 पर और अहमदाबाद -इलाहाबाद सुपर फास्ट को प्लेटफार्म नंबर- 3 पर 15-15 मिनट का अतिरिक्त हाल्ट देना पड़ गया।

और, उधर रीवा स्टेशन में डीरेल
डी-19 डी-18 उधर, रीवा स्टेशन की एडी सायडिंग में खड़ा एक इंजन ढाल और गुटके टूटने के कारण शुक्रवार को तकरीबन साढ़े 9 बजे बगैर ड्राइवर के चल पड़ा। लगभग 30 मीटर तक आगे जाने के बाद रिलेलिंग स्विच के पास इंजन के 2 चके पटरी से उतर गए। गनीमत थी इंजन पलटा नहीं। खबर पर यहां से एक्सीडेंटल रिलीफ ट्रेन (एआरटी) भेजी गई। लगभग 4 घंटे की मशक्कत के बाद इंजन पटरी पर आया। जांच की जिम्मेदारी रेल यातायात टीआई,एलआई , सीडब्ल्यूआई और रीवा के स्टेशन प्रबंधक को सौंपी गई है। इंजन बीती रात इंटर सिटी लेकर आया था।

Facebook Comments