रीवा : उद्योग मंत्री राजेन्द्र शुक्ल का दावा, ऐसे मिलेगा 35 सौ से अधिक युवाओं को गारंटेड रोजगार

रीवा

रीवा। कान्फेडरेशन आॅफ इण्डियन इण्डस्ट्री एनजीओ अवधेश प्रताप सिंह विश्वविद्यालय के साथ मिलकर उद्योग मंत्री राजेन्द्र शुक्ल की पहल से कौशल विकास केन्द्र खोलने जा रहा है। जिसमें 35सौ से अधिक युवाओं को गारंटीड रोजगार देने का दावा किया जा रहा है। गुरुवार को कलेक्टर प्रीति मैथिल नायक विश्वविद्यालय पहुंचकर कुलपति और विवि के प्रोफेसरों से कौशल विकास केन्द्र की तैयारी के बारे में चर्चा की।

इस दौरान अधोसंरचना और केन्द्र के लिए बुनियादी आवश्यकताओं के संबंध में बजट भी तय किया गया। बताया गया है कि विवि एवं अन्य महाविद्यालयों में पीजी कोर्स पूरा कर चुके और अध्ययनरत छात्रों को टेक्निकल एवं नॉन टेक्निकल स्किल डेवलपमेंट का प्रशिक्षण दिया जाएगा। जिसके बाद 35सौ ट्रेनी विद्यार्थियों को गारंटीड रोजगार दिलाने की बात कही गई है।

कान्फेडरेशन आॅफ इण्डियन इण्डस्ट्री (सीआईआई) को विश्वविद्यालय अपने परिसर में भवन उपलब्ध करा रहा है। जिसमें विवि एवं अन्य महाविद्यालयों के छात्रों को कौशल विकास केन्द्र में प्रशिक्षण दिया जाएगा। ट्रेनिंग पूरी होने के बाद 35सौ छात्रों को रोजगार दिया जाएगा। गुरुवार को कलेक्टर प्रीति मैथिल नायक ने विवि प्रबंधन एवं सीआईआई के प्रबंधक से मिलकर इस विषय में चर्चा की एवं लोकार्पण की पूरी तैयारी के बारे में जानकारी ली।

शासन से मिलेंगे 62 लाख रुपए
मिली जानकारी के अनुसार कौशल विकास केन्द्र के लिए संस्था को 62 लाख रुपए आवंटित किए जाएंगे। जिससे अधोसंरचना, कक्षाओं के लिए टेबिल, कुर्सी, लैपटॉप एवं अन्य मशीनरी खरीदी जा सकेगी। कौशल विकास केन्द्र में अभ्यर्थी रजिस्ट्रेशन कराकर ही एडमीशन ले सकेंगे। हालांकि अब तक यह ज्ञात नहीं हुआ है कि पंजीयन की प्रक्रिया आॅनलाइन होगी या आॅफलाइन।

15 अगस्त को होगा लोकार्पण
सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक उद्योग मंत्री राजेन्द्र शुक्ल कौशल विकास केन्द्र का लोकार्पण करेंगे। ऐसे में विवि के प्रोफेसरों का मानना है कि इस केन्द्र से युवाओं को एक नई दिशा मिलेगी और बेरोजगारी दूर होगी। जाहिर है कि 35सौ युवाओं को सीआईआई गारंटीड रोजगार देने का दावा कर रहा है। ऐसे में जिले के विद्यार्थियों के लिए यह किसी सौगात से कम नहीं है।