रीवा: लापता होने के बाद गंभीर हालत में मिली थी छात्रा, मौत

रीवा

रीवा। घर से स्कूल जाने के लिये निकली छात्रा रहस्यमयी ढंग से लापता होने के दो दिन बाद अस्पताल में जिंदगी और मौत से संघर्ष करते हुये परिजनों को मिली थी, जिसकी बुधवार देर रात मौत हो गई। छात्रा के मौत की सूचना पर पुलिस ने आवश्यक कार्रवाई उपरांत शव का पीएम करा परिजन के सुपुर्द कर दिया है, लेकिन छात्रा का लापता होना और उसका गंभीर हालत में मिलना पुलिस के लिये अब भी रहस्य बना हुआ है। फिलहाल पुलिस ने मर्ग कायम कर मामले को जांच में लिया है।

घटना शहर से लगे चोरहटा थाना क्षेत्र के ग्राम पडिय़ा की है। जानकारी के मुताबिक ग्राम पडिय़ा निवासी 16 वर्षीय छात्रा 4 जुलाई को घर से स्कूल जाने के लिये निकली थी। जिसके बाद से वह घर वापस नहीं लौटी। लापता हुई छात्रा की तलाश में जुटे परिजनों को 6 जुलाई को अज्ञात व्यक्ति ने फोन पर सूचना दी थी कि छात्रा संजय गांधी अस्पताल के गंभीर रोगी वार्ड में भर्ती है। परिजन जब अस्पताल पहुंचे तो उन्हें छात्रा अचेत हालत में मिली। जिसके बाद 6 दिनों तक जिंदगी और मौत के बीच संघर्ष करते हुये बुधवार की देर रात छात्रा ने दम तोड़ दिया।

गुरुवार की सुबह सूचना मिलते ही पुलिस ने शव का पीएम करा परिजन के सुपुर्द कर दिया और मर्ग कायम कर मामले को जांच में लिया है। पुलिस के अनुसार पृथम दृष्टया छात्रा की मौत जहर खाने से हुई है, लेकिन उसने यह आत्मघाती कदम क्यों उठाया और वह दो दिन तक कहां थी, इसका पता अभी तक नहीं लगाया जा सका है। टीसी लेने स्कूल गई थी छात्रा परिजनों के मुताबिक घटना दिनांक को छात्रा स्कूल से टीसी लेने गई थी।

बताया गया कि इस वर्ष छात्रा ने कक्षा 10 की परीक्षा उत्तीर्ण की थी और वह 11वीं पढऩे के लिये हायर सेकण्डरी स्कूल में प्रवेश लेना चाहती थी। जिसके लिये वह 4 जुलाई की सुबह घर में स्कूल जाने के लिये बताकर निकली थी, लेकिन घर से जाने के बाद वह वापस नहीं लौटी। बैग में मिला था मोबाइल नंबर बताया गया कि लापता हुई छात्रा की तलाश में जुटे परिजनों ने जब स्कूल बैग की तलाशी ली थी तो उसकी कॉपी में एक मोबाइल नबर लिखा था। परिजनों ने जब उस नबर पर संपर्क करने का प्रयास किया तो किसी ने फोन रिसीव नहीं किया।

बताया गया कि छात्रा के लापता होने के दो दिन बाद 6 जुलाई को उसी नबर से अज्ञात व्यक्ति ने फोनकर परिजनों को सूचना दी थी कि छात्रा संजय गांधी अस्पताल में भर्ती है।