रीवा: मतदाता सूची शुद्धिकरण कार्य में लापरवाही, कलेक्टर ने 4 को किया निलंबित

रीवा: निर्वाचक नामावली कार्य में लापरवाही, कलेक्टर ने किया निलंबित

रीवा

रीवा. 4 जुलाई को राजस्व एवं प्रशासनिक अधिकारियों के साथ मीटिंग कर रीवा कलेक्टर श्रीमती प्रीति मैथिल नायक ने साफ तौर पर स्वतंत्र एवं निष्पक्ष चुनाव संपन्न कराने के लिए कमर कसने की बात कही थी। कलेक्टर श्रीमती प्रीति मैथिल द्वारा यह भी कहा गया था कि चुनावी तैयारियों में किसी भी तरह की लापरवाही किसी भी सूरत में बर्दाश्त नहीं की जाएगी। परंतु एक बीएलओ द्वारा निर्वाचन कार्य में लापरवाही बरती गई, जिसे कलेक्टर रीवा द्वारा निलंबित कर दिया गया।

कलेक्टर रीवा द्वारा आदेश क्र0-740/निर्वा0/ईएस/2018 जारी कर बीएलओ के पद पर नियुक्त किए गए सच्चेलाल कोल को निलंबित कर दिया गया। बीएलओ को भारत निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार 20 जून तक डोर-टू-डोर सर्वे तथा निर्वाचक नामावली में प्रदर्शित डुप्लीकेट मतदाओं एवं त्रुटियों को समाप्त कर निर्वाचक नामावली के शुद्धीकरण का कार्य सौंपा गया था, परंतु बीएलओ कोई कार्य संपादित नहीं किया गया, इसके साथ ही संपर्क मोबाइल भी बंद रखकर निर्वाचन कार्यावली में लापरवाही बरती गई। संबंधित बीएलओ द्वारा लोक प्रतिनिधित्व अधिनियम 1950 की धारा 13(ग)(ग) एवं 32 तथा सिविल सेवा आचरण नियम 1965 के नियम-3 का उल्लंघन कर निर्वाचक नामावली कार्य में असहयोग कर गतिरोध उत्पन्न किया गया है। जिसके कारण बीएलओ को इस तत्काल प्रभाव से निलंबित किया गया है।

बता दें अनुविभागीय अधिकारी एवं निर्वाचक रजिस्ट्रीकरण अधिकारी सिरमौर-68 द्वारा सच्चेलाल कोल, सहायक शिक्षक प्राशा-पटियारी, संकुल-शाउमावि पनवार को बूल लेवल अधिकारी नियुक्त किया गया था।

रीवा: निर्वाचक नामावली कार्य में लापरवाही, कलेक्टर ने किया निलंबित