रीवा : 8 को होगा पत्रकारिता एवं संचार विश्वविद्यालय का भूमिपूजन, कुछ ऐसा होगा मॉडल

रीवा

रीवा। माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता एवं संचार विश्वविद्यालय के रीवा परिसर के 8 जुलाई को होने वाले भूमिपूजन समारोह में विंध्य भर के मीडिया प्रतिनिधियों का समागम होगा। रीवा और शहडोल संभाग के पत्रकारों को आग्रहपूर्वक आमंत्रण भेजा जा रहा है।
विश्वविद्यालय के रीवा परिसर का भूमि पूजन 8 जुलाई को सिरमौर रोड पर इंजीनियरिंग कालेज के सामने होगा इस समारोह में प्राख्यात मीडिया दिग्गज भी आ रहे हैं। इस परिसर के परिकल्पनाकार खनिज संसाधन मंत्री श्री राजेन्द्र शुक्ल का मानना है कि यह संस्थान विंध्य की पत्रकारिता को समर्पित है क्योंकि इसकी स्थापना के पीछे इस क्षेत्र के पत्रकारों की अभिलाषा रही है। इस आयोजन में उनकी उपस्थिती अधिक उत्साहवर्धक होगी।
समारोह की अध्यक्षता देश के मूर्धन्य संपादकों में स्थापित श्री जगदीश उपासने करेंगे। श्री उपासने माखनलाल विवि. के कुलपति भी हैं। श्री उपासने को देश जनसत्ता और इंडिया टुडे के माध्यम से भी जानता है। श्री उपासने प्रभाष जोशी द्वारा संपादित जनसत्ता की लांचिंग टीम के संपादक थे। बाद में श्री उपासने के संपादन में हिंदी इंडिया टुडे सामने आई। हिंदी पत्रकारिता को अँग्रेजी के मुकाबले खड़ा करने में जिन पत्रकारों को श्रेय जाता है उनमें उपासनेजी अग्रगण्य हैं। कुलपति बनने से पूर्व वे वैचारिक पत्रिका पांचजन्य व अर्गनाइजर के संपादक थे। श्री उपासने कई महत्वपूर्ण पुस्तकों के लेखक हैं।
जनसंपर्क के क्षेत्र में श्री लाजपत आहूजा एक ख्यातिलब्ध नाम है। वे इस विवि. के कुलाधिसचिव हैं पर उनकी जीवनयात्रा भी एक कुशल पत्रकार के तौरपर शुरू हुई। इसके अलावा मीडिया हस्तियों में शुमार संजय द्विवेदी भी उपस्थित रहेंगे। श्री द्विवेदी विवि. के कुलसचिव हैं पर पत्रकारिता जगत में उनकी छाप हरिभूमि और दैनिक भास्कर के यशस्वी संपादक के रूप में। श्री द्विवेदी के संपादन में निकलने वाली शोधपत्रिका मीडिया विमर्श देशव्यापी चर्चित प्रकाशन है।
रीवा परिसर के समन्वयक जयराम शुक्ल वरिष्ठ पत्रकार के साथ लेखक विचारक व वर्तमान में देश के अग्रणी स्तंभकारों में से एक हैं, समसामयिक विषयों पर उनके लेख व टिप्पणियां नियमित रूप से देश की पत्र-पत्रिकाओं, टीवी न्यूज पोर्टलों पर विमर्श के विषय होते हैं। वन्यजीवों पर उनकी पुस्तक ¼टेल आफ द ह्वाइट टाइगर½ ने अंतरराष्ट्रीय ख्याति अर्जित की है।
विष्वविद्यालय के रीवा परिसर के प्रलेखन अधिकारी बृजेद्र शुक्ल ने बताया कि प्रथम चरण में प्रषासनिक एवं आकादमिक भवन बनेगा। भूमिपूजन मंत्री श्री राजेन्द्र शुक्ल, म.प्र. गृहनिर्माण मंडल एवं अधोसंरचना विकास मंडल के अध्यक्ष श्री कृष्णमुरारी मोघे के कर कमलों से होगा। इस शुभ अवसर पर सांसद श्री जनार्दन मिश्र, महापौर श्रीमती ममता गुप्ता विशिष्ट अतिथि के रूप में उपस्थित रहेंगी। इस अवसर पर विंध्यक्षेत्र के समूचे मीडिया जगत को आमंत्रित किया गया है। श्री शुक्ल ने बताया कि विवि परिसर का भवन अपने वास्तु और अन्य विशिष्टताओं के लिए जाना जाएगा। फिलहाल परिसर शिल्पी प्लाजा के बी ब्लॉक में संचालित है जहाँ कम्प्यूटर और पत्रकारिता के पाठ्यक्रम चलाए जा रहे हैं। परिसर के 18 महीनों के भीतर पूर्ण होने के आसार हैं तब विवि के सभी अनेक पाठ्यक्रम शुरू हो जाएंगे। परिसर की निर्माण एजेंसी हाउसिंग बोर्ड है जो अंतरराष्ट्रीय ख्याति प्राप्त वास्तुविद के आर्किटेक्ट के आधार पर निर्माण कराएगी। माखनलाल चतुर्वेदी राट्रीय पत्रकारिता एवं संचार विष्वविद्यालय, रीवा परिसर प्रदेश भर के शैक्षणिक परिसरों में अद्वितीय होगा। श्री शुक्ल ने शहर के शिक्षाविदों, मीडिया प्रतिनिधियों, संस्कृति व साहित्यकर्मियों व सभी प्रबुद्ध नागरिकों, छात्रों व युवाओं से समारोह में भागीदार बनने का आग्रह किया है।