रीवा: नियमानुसार वेतनमान को लेकर विवि अतिथि प्रध्यापक संघ ने की कुलपति कार्यालय की घेराबंदी

रीवा: वेतनमान को लेकर विवि अतिथि प्रध्यापक संघ ने की कुलपति कार्यालय की घेराबंदी

रीवा

रीवा। अवधेश प्रताप सिंह विश्वविद्यालय अतिथि प्राध्यापक संघ ने तीन सूत्रीय मांगों को लेकर कुलपति कार्यालय का घेराव कर वीसी को ज्ञापन सौंपा है। साथ ही देर शाम तक धरना प्रर्दशन किया। इस दौरान कुलपति प्रो केएन सिंह यादव अपने कार्यालय में कैद रहे।

ज्ञात हो कि 26 जून 2018 के आदेश में उच्च विभाग के अपर सचिव वीरन सिंह भलावी ने क्षेत्रीय अतिरिक्त संचालक को भेजे पत्र में कहा था कि अतिथि प्रध्यापकों को प्रतिदिन 15 सौ रु. या कि न्यूनतम 30 हजार रुपये मासिक वेतन दिया जाये। वहीं प्राध्यापकों की सेवा अवधि 12 माह की जाये व पुराने अतिथि की सेवा रहने पर नये न रखे जायें।

विश्वविद्यालय प्रशासन द्वारा उच्च शिक्षा के आदेश को नहीं मानने से नाराज अतिथि प्राध्यापकों ने कुलपति कार्यालय का घेराव कर ज्ञापन सौंपा। जिसमें कहा गया है, मांगों पर शीघ्रता से विचार किया जाये अन्यथा आंदोलन के लिए बाध्य होंगे। इसके बाद कुलपति केएन सिंह यादव ने आश्वस्त करते हुए कहा कि मांगों पर लीगल ओपीनियन लेने के बाद ही कर सकते हैं। जिस पर भड़के अतिथि प्राध्यापकों ने कुलपति कार्यालय के सामने नारेबाजी करते हुए देर शाम तक बैठे रहे।

उधर कुलपति प्रो यादव कमरे में कैद रहे। वह प्रदर्शन की वजह से बाहर नहीं निकल सके। जब धरना समाप्त हुआ तब कहीं जाकर कुलपति बाहर निकल सके। घेराव प्रदर्शन में अतिथि प्राध्यापक विश्वविद्यालय संघ के अध्यक्ष डा. अनुराग मिश्र, डा. शेर सिंह, डा. एसपी सिंह, डा. नीति मिश्रा, डा. ऊषा तिवारी, डा. कल्पना पांडेय, डा. विजय मिश्र, डा. कमलेश मिश्र शामिल रहे।