रीवा : सांसद एवं महापौर के हाथो सिद्धार्थ श्रीवास्तव हुए सम्मानित

रीवा

रीवा। युवा कवि, छात्र नेता एवं सामाजिक कार्यकर्ता सिद्धार्थ श्रीवास्तव को उत्कृष्ट साहित्य सेवा हेतु स्थानीय स्वयंवर विवाह घर में कल्पना कल्याण समिति द्वारा आयोजित भव्य समारोह में सांसद रीवा लोकसभा जनार्दन मिश्रा, महापौर रीवा ममता गुप्ता, जन अभियान परिषद् के प्रदेश उपाध्यक्ष प्रदीप पाण्डेय, रिटायर्ड आई.ए.एस. सरदार सिंह डंकस एवं महिला नेत्री विमलेश मिश्रा ने “विंध्य विशिष्ट प्रतिभा सम्मान“ से अलंकृत करते हुए स्मृति चिन्ह एवं स्मारिक भेंट करके सम्मानित किया।
उक्त आशय की जानकारी कवि एवं रचनाकार जानकी प्रसाद पाण्डेय ने आज यहाँ पर जारी अपनी एक लिखित प्रेस विज्ञप्ति में दी है।
श्री पाण्डेय ने अपनी विज्ञप्ति में आगे बताया है कि इस सम्मान समारोह में प्रमुख रुप से उद्योग एवं वाणिज्य मंत्री म.प्र. शासन राजेन्द्र शुक्ला, सांसद राज्य सभा राजमणि पटेल, समाजसेवी सरदार आशा सिंह भाटिया, शिक्षाविद् आर.के. शुक्ला, संभाग समन्वयक जन अभियान परिषद् अमिताभ श्रीवास्तव, जिला समन्वयक प्रवीण पाठक, ककस के संरक्षक वी.पी. सिंह एवं आकाशवाणी रीवा से उद्घोषक साकेत श्रीवास्तव आदि शामिल रहे।
विदित् हो कि सिद्धार्थ श्रीवास्तव को यह सम्मान उनकी उत्कृष्ट साहित्य सेवा के लिए प्रदान किया गया। 02 फरवरी 1998 को 03 वर्ष की उम्र में अपनी काव्य यात्रा की शुरुआत करने वाले सिद्धार्थ ने आज साहित्यिक मंचों पर अपने 20 वर्ष पूर्ण कर लिए हैं। देश के विभिन्न राज्यों में आयोजित कवि सम्मेलनों एवं मुशायरों में रीवा का प्रतिनिधित्व करने वाले सिद्धार्थ ने कविता एवं शायरी जगत की जानी-मानी विभूति पद्मश्री गोपाल दास नीरज, पद्मश्री बशीर बद्र एवं गीतकार सोम ठाकुर जैसे अनेक बड़े काव्य हस्ताक्षरों के साथ मंचों पर काव्य पाठ भी किया है।
कल्पना कल्याण समिति द्वारा सिद्धार्थ श्रीवास्तव को सम्मानित किये जाने पर रीवा के साहित्य जगत ने हर्ष व्यक्त किया है। जिन रचनाकारों ने सिद्धार्थ को शुभकामनाएँ प्रेषित करते हुए उनके उज्ज्वल भविष्य की कामना की है, उनमें प्रमुख रुप से वरिष्ठ शायर जनाब रफीक रिवानी, वरिष्ठ गीतकार इन्द्रभान प्रसाद द्विवेदी, वरिष्ठ कवि इंजी. राजेन्द्र तिवारी भारतीय, सिद्धार्थ के पिता एवं साहित्यिक गुरु सुभाष श्रीवास्तव, इतिहासकार अशद खान, कवि राम सुंदर द्विवेदी, रामलखन केवट जलेश, कमल किशोर मिश्रा कमल, नजफ रिवानी, बृजेश सिंह सरल, रामानुज श्रीवास्तव, युवा कवि राजराखन पटेल, सिद्धार्थ की माता एवं शैक्षणिक गुरु ज्योत्सना श्रीवास्तव एवं बड़ी बहन शालिनी आशीष निगम आदि शामिल हैं।