रीवा में 30 करोड़ में बनेगा सबसे बड़ा देश का पांचवा विश्वविद्यालय, जानिये क्या होगा खास

रीवा

रीवा। माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता एवं संचार विश्वविद्यालय के रीवा परिसर के भवन का निर्माण ३० करोड़ की लागत से किया जाएगा। इसका भूमिपूजन 8 जुलाई को तय किया गया है। प्रथम चरण में भव्य अकादमिक भवन का निर्माण किया जाएगा। इसके बाद परिसर का अन्य कार्य होगा। इसकी तैयारी के लिए उद्योग मंत्री राजेंद्र शुक्ल ने राजनिवास में अधिकारियों के साथ बैठक कर जानकारी ली। उन्होंने कहा कि भवन निर्माण में संसाधनों की कमी आड़े नहीं आएगी। माखनलाल चतुर्वेदी विश्वविद्यालय का यह देश का पांच कैम्प्स होगा। भोपाल में मुख्यालय के अलावा अमरकंटक, ग्वालियर, नोयडा, खंडवा आदि में पहले से कैम्प्स हैं। रीवा में अभी किराए के मकान पर इसका संचालन हो रहा है। जल्द ही खुद का कैम्पस बनाने की तैयारी विश्वविद्यालय प्रबंधन द्वारा की जा रही है।

पत्रकार और साहित्यकार बुलाए जाएंगे

उद्योग मंत्री ने कहा कि भूमिपूजन के अवसर पर रीवा व शहडोल संभाग के सभी पत्रकारों व मीडिया प्रतिनिधियों, रीवा शहर के सभी साहित्यिक व सांस्कृतिक विद्वानों, शिक्षाविदों को आमंत्रित किया जाए। निर्माण एजेंसी मध्यप्रदेश गृहनिर्माण अधोसंरचना विकास बोर्ड के उपायुक्त एमके साहू ने बताया कि प्रथम चरण में अकादमिक व प्रशासनिक भवन को 18 महीने के भीतर लोकार्पित कर दिया जाएगा। यह भवन क्लीन एवं ग्रीन इनर्जी व वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम की थीम के साथ बनेगा। प्रथम चरण में अकादमिक व प्रशासनिक भवनों के साथ एक भव्य आडिटोरियम भी बनेगा।

आठ जुलाई को होगा भूमिपूजन

भूमिपूजन 8 जुलाई को सिरमौर रोड पर इंजीनियरिंग कालेज के सामने दोपहर साढ़े तीन बजे होगा। इस दौरान उद्योग मंत्री के साथ ही हाउसिंग बोर्ड के अध्यक्ष कृष्णमुरारी मोघे, माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय विश्वविद्यालय के कुलपति जगदीश उपासने, सांसद जनार्दन मिश्र, महापौर ममता गुप्ता सहित अन्य मौजूद रहेंगे।

अनुसंधान की शैक्षणिक गतिविधियां होंगी बैठक में माखनलाल राष्ट्रीय विश्वविद्यालय के रीवा परिसर प्रभारी जयराम शुक्ल ने बताया कि परिसर के लोकार्पित होने के बाद स्नातक से लेकर अनुसंधान तक की शैक्षणिक गतिविधियां होंगी। विश्वविद्यालय के मुख्य केंद्र भोपाल की तरह सभी पाठ्यक्रम संचालित किए जाएंगे। फिलहाल वहां 42 विभिन्न पाठ्यक्रम संचालित किए जा रहे हैं। इस दौरान नगरनिगम आयुक्त आरपी सिंह, हाउसिंग बोर्ड के कार्यपालन यंत्री एपी सिंह, माखनलाल विवि. के प्रलेखन अधिकारी बृजेन्द्र शुक्ल सहित अन्य मौजूद रहे।