बॉडी

रीवा: शराब पिलाकर युवक को मारी गोली, फिर क्योटी प्रपात में फेंक दिया शव, ऐसे खुला राज…

क्राइम रीवा

विवि पुलिस के हाथ लगे दो आरोपी, निशानदेही पर बरामद हुआ शव

रीवा. सप्ताहभर से पुलिस के लिए अबूझ पहले बने लापता युवक का शुक्रवार को शव मिला है। उसकी गोली मारकर हत्या कर की गई थी और शव को छिपाकर भाग लिए थे। पुलिस ने इस मामले में दो आरोपियों को हिरासत में लिया है जिनसे पूछताछ की जा रही है।

16 जून की रात हुई वारदात
रायपुर कर्चुलियान थाना के कोष्ठा में 16 जून की रात करीब 11 बजे गोली चलने की स्थानीय लोगों ने सूचना दी थी। मौके से पुलिस को पिस्टल के दो खाली खोखे, मोबाइल, खून के धब्बे व बाइक बरामद हुई थी। उक्त मोबाइल सुरेश उर्फ नीलू गौतम पिता रामलला (30) निवासी मढ़ा मनगवां के रूप में हुई थी। परिजनों ने विवि थाने में युवक की गुमशुदगी दर्ज कराई थी।

साइबर सेल से ली मदद
पुलिस लगातार उक्त युवक की तलाश में लगी थी। साइबर सेल की मदद से पुलिस ने दो संदेहियों को हिरासत में लिया जिन्होंने सख्ती से पूछताछ में युवक की हत्या करने की बात स्वीकार कर ली। आरोपियों ने शव को गढ़ के क्योंटी प्रपात में फेंकने की जानकारी दी थी। शुक्रवार को पुलिस आरोपियों को लेकर क्योंटी पहुंची जहां फाल के अंदर युवक का क्षतविक्षत अवस्था में बरामद हुआ। शव पूरी तरह से सड़ चुका था। कपड़ों के आधार पर परिजनों ने उसकी पहचान की। घटनास्थल पर मिले खून के धब्बों से पुलिस लगातार युवक के साथ घटना होने का दावा कर रही थी लेकिन आरोपियों के न मिलने से पुलिस पशोपेश में फंसी हुई थी।

शराब पिलाकर मारी थी गोली
उक्त आरोपियों ने युवक को शराब पिलाकर गोली मारी थी। आरोपी घटना दिनांक को कोष्ठा में कार खड़ी कर उसमें युवक को काफी शराब पिलाए थे। जब उसको काफी नशा चढ़ गया तो गोली मार दी। आरोपियों ने तीन फायर किए थे जिसमें दो गोलियां उसके सीने में लगी थी। गोली शरीर को चीरते हुए दूसरी ओर निकल गई थी। आरोपी चारपहिया वाहन में शव को रखकर क्योंटी प्रपात में ले जाकर फेंक दिए ताकि शव बरामद न हो। वापस घर आकर उन्होंने गाड़ी में लगे खून को धोया। आरोपियों की निशानदेही पर वारदात में प्रयुक्त पिस्टल भी बरामद कर ली गई है जिसे उन्होंने घर में छिपाया हुआ था।

प्रॉपर्टी को लेकर चल रहा था विवाद
उक्त युवक का प्रॉपर्टी को लेकर आरोपियों से विवाद चलता था। युवक प्रॉपर्टी डीलिंग का काम करता था और कुछ दिनों से उसका आरोपियों से विवाद चल रहा था। आरोपियों ने सुलह करने के लिए युवक को बुलाया था। उनके नापाक इरादों से अनजान युवक कोष्ठा पहुंच गया जहां उन्होंने युवक को शराब पिलाकर मौत के घाट उतार दिया। आरोपियों ने सपने में भी कल्पना नहीं की थी कि पुलिस कभी उन तक पहुंच पाएगी