रीवा में कांग्रेस नेता ने अरबों की भूमि आवासीय कॉलोनी बनाकर बेंच डाली : चोटीवाला

रीवा

रीवा। रतहरी तालाब अतिक्रमण मामले में पत्रकारवार्ता कर समाज सेवी विश्वनाथ चोटीवाला ने कहा कि अल्प आयवर्ग सोसायटी रतहरी के अध्यक्ष एवं कांग्रेस नेता रमाशंकर मिश्रा द्वारा शासकीय तालाब को अवैधानिक तरीके से आवासीय कॉलोनी बनाकर अरबों रुपयों में बिक्री किया गया है। वहीं नगर पालिक निगम रीवा द्वारा बनाई गई डल्यूबीएम रोड को भी लोगों को विक्री कर सैकड़ों परिवारों का आवागमन बाधित कर दिया।

चोटीवाला ने आगे कहा कि उक्त आवागमन को बहाल कराये जाने के लिए उनके द्वारा 21 मई से 15 दिनों तक लगातार अनशन किया गया था, तब कलेटर के हस्तक्षेप के बाद तहसीलदार तहसील हुजूर जितेन्द्र तिवारी रतहरी तालाब धरना स्थल पर पहुंच कर 4 मई को अनशन तोड़वाकर 19 जून के अन्दर नगर निगम की डल्यूबीएम सड़क खोलवाने तथा नये निर्माण पर तत्काल रोक लगाये जाने का अश्वासन दिया था, लेकिन प्रशासन अभी तक रास्ता नहीं खोलवा सका। अतिक्रमणकारी लगातार तालाब की भूमि में मकान निर्माण कर रहे हंै।

चोटीवाला ने बताया तालाब को अतिक्रमण मुक्त कराने एनजीटी भोपाल में भी मामला विचाराधीन है, जहां से स्थगन जारी है, तथा तहसीलदार हुजूर के यहां से भी स्थगन है। एनजीटी भोपाल में कलेटर रीवा ने जो जवाब दिया है, उसमें भी गूगल मैप के मुताबिक तालाब होने का स्पष्ट उल्लेख किया गया है, जिसकी प्रति तहसीलदार हुजूर को अपलध करा दी गई थी। इसके बावजूद भी तालाब अतिक्रमण मुक्त कराने कोई कार्यवाही नहीं की जा रही।

बारिश शुरू, आमनागरिकों को परेशानी 

बरसात का समय है। आमनागरिकों को आवागमन के लिये परेशान होना पड़ रहा है। उक्त तालाब सन 2015 तक गूगल मैप में स्पष्ट दिखाई दे रहा है, जिसे आवासीय प्रयोजन हेतु डायवर्ट नहीं किया जा सकता। चोटी वाला ने प्रशासन को चेतावनी देते कहा कि तत्काल तहसीलदार आमनागरिकों का रास्ता बहाल कराएं तथा अल्प आय वर्ग सोसाइटी के अध्यक्ष रमाशंकर मिश्रा एवं अतिक्रमणकारियों के विरुद्ध कार्यवाही करें, नहीं तो व्यापक आंदोलन किया जायेगा। साथ ही शासन-प्रशासन के विरुद्ध भी एनजीटी के समक्ष सपूर्ण दस्तावेजों के विचाराधीन प्रकरण में दस्तावेज प्रस्तुत कर प्रशासनिक एवं दाण्डिक कार्यवाही करने की मांग की जायेगी।

Tagged