विंध्य : छप्पन भोग में मिला जहरीला खोवा

रीवा

सतना। अवैध रूप से पानी पाउच व मिनरल वाटर बनाने वाली फैक्ट्री देवनीर को सीज कर दिया गया है। मौके पर कारखाने के अंदर पानी पाउच पैक करते पाया गया, तो दूसरी ओर होटलों में भी दबिश दी गई। किराना दुकानों से भी एक्सपायरी सामान नष्ट कराते हुए सेम्पल लिए गए। जानकारी के अनुसार खाद्य एवं औषधि प्रशासन विभाग व राजस्व अमले की संयुक्त कार्यवाही में ताबड़तोड़ छापे मारे गए।

पहली कार्यवाही बिरसिंहपुर में हुई, जहां वाटर प्लांट देवनीर को सीज किया गया, तो जहरनुमा खोवा बस स्टैण्ड स्थित छप्पन भोग होटल में पाया गया, जिसे डीओ खाद्य सुरक्षा व एसडीएम ने मौके पर ही नष्ट करा दिया। कार्रवाई के दौरान फूड इंस्पेक्टर भी मौजूद रहे, जिन्होंने दूध, पनीर, मिठाई के साथ पानी का सेम्पल लिया। कार्रवाई से पूरे कस्बे में हड़कम्प मच गया।

सतना में भी दबिश
शाम के वक्त सिविल लाइन स्थित सिंह व अपना होटल में भी मिठाईयों की सेम्पिलिंग कराई गई। बताया गया कि एसडीएम बलवीर रमन व तहसीलदार नजूल शैलेन्द्र बिहारी शर्मा के साथ खाद्य सुरक्षा अधिकारियों ने दोनों होटलों से मावा व मावे से बनी सामग्री के सेम्पल लिए हैं, सभी सेम्पल राज्य प्रयोगशाला भोपाल जांच के लिए जाएंगे।

यूं हुई कार्रवाई 
जानकारी के अनुसार मंगलवार को एसडीएम मझगवां व डीओ खाद्य सुरक्षा ओमनारायण सिंह की अगुवाई में खाद्य सुरक्षा अधिकरियों ने सर्वप्रथम वाटर प्लांट देवनीर में रेड मारी, अनियमितता पाए जाने पर इसे सीज कर दिया गया। बस-स्टैण्ड स्थित छप्पन भोग में खराब हो चुका खोवा फ्रिज में रखा था, जिसे नष्ट कराते हुए पनीर व मिठाईयों के सेम्पल लिए गए। गैवीनाथ मिष्ठान भण्डार से भी सेम्पिल कराई गई, राकेश अग्रवाल के  किराना स्टोर से तेल व बच्चों के खाने की रंगीन बरफी का नमूना लिया और यहां भारी मात्रा में खाद्य सामग्री एक्सपायरी व अमानत पाई गई। दुकान में ही उक्त खाद्य पदार्थों को सील कर दिया गया है।

जब्त हुए 7 घरेलू सिलेण्डर
बिरसिंहपुर के होटलों में घरेलू गैस का उपयोग होते पाया गया हैं, छप्पन भोग से 1, अपना होटल से 3 व गैवीनाथ मिष्ठान भण्डार से 3 सिलेण्डर जब्त किए गए। यह कार्रवाई सुबह साढ़े 11 बजे से 3 बजे तक की गई। कार्रवाई में फूड इंस्पेक्टर शीतल सिंह, वेद प्रकाश चौबे, सीमा सिंह, थाना प्रभारी आरके त्रिपाठी, कनिष्ठ आपूर्ति अधिकारी पियूष शुक्ला, राजेश शुक्ला नायब तहसीलदार, खनिज निरीक्षक कपिल मुनि शुक्ला व अन्य राजस्व अमला मौजूद रहा।