मध्य प्रदेश के इंदौर, रीवा और उज्जैन संभागों सहित इन जिलों में भारी बारिश की चेतावनी

Madhya Pradesh Weather Alert : कई स्थानों पर भारी वर्षा, चार सिस्टम बरपा रहे कहर, जानिए अपने शहर के हाल

इंदौर उज्जैन कटनी ग्वालियर जबलपुर भोपाल मध्यप्रदेश रीवा शहडोल सतना सागर सिंगरौली सीधी

भोपाल। प्रदेश में चार मानसूनी सिस्टम के लगातार सक्रिय बने रहने से रुक-रुककर तेज बौछारें पड़ने का सिलसिला जारी है। मौसम विज्ञानियों के मुताबिक बुधवार-गुरुवार को प्रदेश के कई स्थानों पर भारी बरसात होने की आशंका है। इन स्थानों में इंदौर, धार, खंडवा, खरगोन, झाबुआ, उज्जैन, रतलाम, शाजापुर, देवास, भोपाल, मंदसौर, रायसेन, राजगढ़, विदिशा, सीहोर, बालाघाट, नरसिंहपुर, रीवा, सागर, गुना, उमरिया आदि शामिल हैं।

मौसम विज्ञान केंद्र के मुताबिक मंगलवार सुबह तक प्रदेश में सामान्य से 25 फीसदी अधिक बरसात हो चुकी है। साथ ही मानसून लगातार सक्रिय बना रहने से बारिश का सिलसिला जारी है। इसी क्रम में मंगलवार सुबह 8:30 बजे से शाम 5:30 बजे तक पचमढ़ी में 44, होशंगाबाद में 40, भोपाल में 33.1, इंदौर में 31.4, शाजापुर में 30, रायसेन में 26, रीवा में 14, उमरिया में 11, रतलाम में 10, गुना में 9, नौगांव और धार में 5, उज्जैन में 2, जबलपुर में 1.4, दमोह में 1 मिमी. बरसात हुई।

चार सिस्टम, अब बरपा रहे कहर
मौसम विज्ञानी अभिजीत ने बताया कि वर्तमान में एक कम दबाव का क्षेत्र उत्तर-पूर्व मध्यप्रदेश एवं उससे लगे पूर्वी उत्तर प्रदेश के ऊपर बना हुआ है। साथ ही इसके ऊपरी भाग में 5.8 किलोमीटर की ऊंचाई तक चक्रवाती हवा का घेरा बना हुआ है।

मानसून ट्रफ (द्रोणिका लाइन) बीकानेर, अजमेर, शिवपुरी से कम दबाव के क्षेत्र से डाल्टनगंज, पूर्णिया, दीघा से बंगाल की खाड़ी तक गया है। इसके अतिरिक्त मप्र के मध्य में पूर्वी-पश्चिमी हवाओं का टकराव हो रहा है। इन चार सिस्टम के कारण प्रदेश के अधिकांश स्थानों पर लगातार बरसात हो रही है। इस तरह की स्थिति अभी 2 दिन तक बनी रहने के आसार हैं। इस दौरान कहीं-कहीं भारी बरसात भी हो सकती है।

Facebook Comments