रीवा : मानसून ने पकडी रफ़्तार, आने वाले 5 दिन में ये रहेगा जिले का हाल…

रीवा

कोलकाता समेत दक्षिण बंगाल के विभिन्न जिलों में मूसलाधार बारिश के साथ गाज गिरने से पांच लोगों की मौत हो गई है

मानसून बंगाल, झारखंड और बिहार में प्रवेश कर गया है। वहीं दिल्ली समेत शेष राज्यों में इसके 29 जून तक पहुंचने की संभावना है। जोरदार बारिश के चलते बंगाल में सामान्य जनजीवन पर भारी असर पड़ा है।

कोलकाता समेत दक्षिण बंगाल के विभिन्न जिलों में मूसलाधार बारिश के साथ वज्रपात से पांच लोगों की मौत हो गई। गुरुवार तक विभिन्न जिलों में भारी बारिश का पूर्वानुमान है। मछुआरों को समुद्र में नहीं जाने की हिदायत दी गई है। तीस्ता, तोर्सा और महानंदा जैसी नदियों में बाढ़ की आशंका है।

बिहार में खगड़िया, सुपौल, लखीसराय, कटिहार, समस्तीपुर आदि जिलों में कुछ जगहों पर छिटपुट बारिश हुई। अगले दो दिनों में मानसून के सक्रिय रहने की उम्मीद है।

झारखंड में भी रांची व आसपास जोरदार बारिश हुई है। इस दौरान हुए वज्रपात में पांच लोगों की मौत हो गई। मौसम विभाग का दावा है कि इस वर्ष मानसून आने थोड़ी देर जरूर हुई है, लेकिन अच्छी बारिश के संकेत हैं। ओडिशा के जगतसिंगपुर में सात सेमी, कुजंग में 15 और केंद्रपाड़ा व पराद्वीप में 15 सेमी बारिश हुई। यहां आने वाले दो दिनों में मानसून पूरी तरह सक्रिय हो जाएगा। तटीय इलाकों में भी भारी बारिश की संभावना है।

उधर मध्य प्रदेश के कुछ जिलों में बारिश के बाद भोपाल में 24 घंटे के अंदर मानसून सक्रिय हो सकता है। पंजाब में 27 जून से मौसम बदलेगा। पूर्वानुमान के अनुसार यहां 28 या 29 जून तक कई जिलों में बारिश हो सकती है। हालांकि पश्चिमी उत्तर प्रदेश, दिल्ली व हरियाणा अभी गर्मी से बेहाल हैं, लेकिन यहां भी आने वाले दो दिनों में मौसम बदलेगा। देहरादून में भी मंगलवार को मौसम करवट बदल सकता है। कई जगह बारिश के साथ तेज हवाएं चल सकती हैं। 28 व 29 जून को कुमाऊं के इलाकों में तेज बारिश के आसार हैं।

उत्तराखंड में अलर्ट जारी

उत्तराखंड में मौसम विभाग ने अगले चौबीस घंटे के लिए चेतावनी जारी की है। इस दौरान पर्वतीय इलाकों में बारिश के साथ तेज हवा व ओलावृष्टि के आसार हैं। सोमवार को बदरीनाथ व केदारनाथ में बारिश होने से मौसम खुशगवार हो गया है। वहीं हिमाचल प्रदेश में भी 28 जून को प्रदेशभर में भारी वर्षा होने की संभावना है और यह सिलसिला तीन दिन तक जारी रहेगा।

पंजाब में राहत नहीं

पंजाब में फिलहाल लोग तपिश व उमस के चलते लोग पसीने से तरबतर हो रहे हैं। सोमवार को भी गर्मी ने अपना रौद्र रूप दिखाया। इस कारण सूबे के कई जिलों में दिन व रात का तापमान सामान्य से पांच डिग्री अधिक दर्ज किया गया। मौसम वैज्ञानिकों के अनुसार जून के अंतिम सप्ताह में सामान्य तौर पर अधिकतम तापमान 37 डिग्री सेल्सियस होना चाहिए, लेकिन वर्तमान में यह करीब 42 डिग्री सेल्सियस है। 29 जून से एक जुलाई के बीच मानसून के पंजाब में प्रवेश करने की संभावना है। पंद्रह जुलाई तक मानसून पूरे देश को कवर कर लेगा।